देश

गुस्से से गरमा गए गडकरी, बोले- चिल्लाना बंद करो नहीं तो थप्पड़ लगेगा

वरिष्ठ बीजेपी नेता और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी महाराष्ट्र के नागपुर में एक बैठक कर रहे थे तभी कुछ लोग पृथक विदर्भ राज्य के नारे लगाने लगे. इस बात से नाराज़ होकर नितिन ने उन्हें शांत रहने के लिए कहा लेकिन उनलोगों की नारेबाजी कम नहीं हुई जिससे नितिन गडकरी को बहुत गुस्सा आ गया. कार्यक्रम के दौरान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस भी वहां मौजूद थे.

दरअसल जनसभा में गडकरी ने जब भाषण देना शुरू किया तो विदर्भ के कुछ लोग नारेबाजी करने लगे जिससे नाराज़ होकर नितिन ने गुस्से में आकर उन्हें कार्यक्रम से बाहर निकलवा देने की धमकी दी और कहा कि यदि वे फिर हंगामा करते हैं तो उन्हें थप्पड़ लगेगा और यदि चिल्लाना बंद नहीं किया तो या तो थप्पड़ लगेगा या बाहर निकाल दिया जाएगा. हालाँकि इस बात के बाद भी उनकी नारेबाज़ी कम नहीं हुई.

विदर्भ को लेकर अभी बहुत ज्यादा हंगामा चल रहा है जिसकी मुख्य वजह ये है कि विदर्भ को अलग राज्य बनाने की मांग की जा रही है. वहां के स्थानीय लोगों की मांग है कि अलग विदर्भ राज्य बनाया जाए ताकि इलाके का सही विकास हो सके. 1 अक्टूबर 1938 को विदर्भ राज्य बनाए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया था। 80 साल बाद भी यह मांग पूरी नहीं हो पाई है. विदर्भ में बिजली, जंगल, खनिज संपदा, कोयला यह सभी संपदाएं हैं. इसके बावजूद विदर्भ की आर्थिक स्थिति बहुत दयनीय है.

Back to top button