देश

गुजरात में 3 महीनों के आंकड़े देखिए, फिर समझिए कि तीसरी लहर होगी कितनी कातिलाना

अहमदाबाद. गुजरात में पहली लहर नियंत्रण में थी, लेकिन इस साल फरवरी के बाद आई दूसरी लहर ने घातक रूप धर लिया था। फिलहाल नए मामलों और मौतों के बढ़ते आंकड़ों पर आंशिक रूप से कमी आ गई है। लेकिन, अब भी लगभग दो हजार मामले रोजाना आ रहे हैं।

अगर कोरोना की पहली और दूसरी लहर की बात करें तो शुरूआत के 1 साल में यानी की 28 फरवरी तक कोरोना के 2.70 लाख मामले सामने आए थे। लेकिन इस साल मार्च में तीसरी लहर आने के बाद पिछले तीन महीनों में ही 5.37 लाख नए केस दर्ज हुए। इससे तीसरी लहर का अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह कितनी खतरनाक होगी।

पहली और दूसरी लहर में दर्ज मामले
कोरोना की पहली लहर यानी 28 फरवरी तक गुजरात में 269889 मामले सामने आए। इसके बाद दूसरी लहर के 3 महीनों में ही 537599 मामले दर्ज हुए। यह आंकड़ा पहली लहर से दोगुना है। गुजरात में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 807488 पहुंच गई है। मार्च और अप्रैल में कोरोना के बढ़ते मामलों में अस्पतालों से लेकर श्मशान और कब्रिस्तान तक में लाइन देखी गई।

मौतों की संख्या दोगुनी से ज्यादा
गुजरात में कोरोना का पहला मामला 28 फरवरी, 2020 को आया था। इसके बाद 28 फरवरी 2021 तक 4410 मरीजों की मौत दर्ज हुई। वहीं, इस साल के पिछले तीन महीने में मरने वालों की संख्या दोगुनी से ज्यादा यानी 5405 पर पहुंच गई। पिछले महीने 29 अप्रैल को एक दिन में ही 180 मरीजों की मौत हुई थी। तबसे इसमें गिरावट आ रही है।

स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही
गुजरात में अब तक 762,270 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। पहली लहर में यानी की 28 फरवरी तक कुल 263116 मरीज ठीक हुए थे, जबकि उसके बाद से पिछले तीन महीने में कुल 499154 ​​मरीज ठीक हो चुके हैं। इस समय गुजरात का रिकवरी रेट 94.40 प्रतिशत है। पहली लहर में ठीक होने की दर 97.49 फीसदी थी। पिछले तीन महीने से रिकवरी रेट 92.84 फीसदी पर पहुंच गई है।

टेस्ट और पॉजीटिव का प्रतिशत
28 फरवरी 2020 से 28 फरवरी 2021 तक कुल 11739846 टेस्ट हुए। जिसमें पॉजीटिव मरीजों का प्रतिशत 2.29 रहा और 269889 मामले दर्ज किए गए। वहीं, पिछले तीन महीने में 9939372 टेस्ट किए गए, जिनमें 5.40 फीसदी पॉजिटिविटी रेट के साथ 537599 मामले सामने आए हैं।

Back to top button