क्राइम

गुजरात : कोरोना पीड़ित मुखिया की मौत से डरकर पूरे परिवार ने दी जान

सूरत. पूरे देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है और रोजाना हजारों लोगों की मौतें हो रही है। अब हालात ये हैं कि लोगों के दिल-दिमाग पर भी कोरोना का खौफ बढ़ता जा रहा है, जिससे लोग दिल दहलाने वाले कदम उठा रहे हैं। ऐसा ही मामला गुजरात की देवभूमि द्वारका में आया है, जहां परिवार के मुखिया की कोरोना से मौत होने पर पूरे परिवार ने कीटनाशक पीकर सामूहिक आत्महत्या कर ली।

शहर के रुक्मणी नगर में रहने वाले जयेश जैन (59) की बीते रविवार को कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी और वे अस्पताल में भर्ती थे। इलाज के दौरान बुधवार की शाम उनका निधन हो गया। यह खबर जब घरवालों तक पहुंची तो उनकी पत्नी साधनाबेन, बड़े बेटे कमलेश (35) और छोटे बेटे दुर्गेश (33) ने कीटनाशक पी लिया, जिससे तीनों की मौत हो गई।

गुरूवार सुबह दूधवाला जयेश के घर पहुंचा। लेकिन, दूधवाले के काफी दरवाजा खटखटाने और आवाज लगाने के बाद भी गेट नहीं खुला। आमतौर पर साधनाबेन जल्दी उठ जाती हैं, इससे पड़ोसियों को शक हुआ। जब किसी तरह खिड़की से झांककर देखा गया तो तीनों के मृतदेह नजर आए। मौके पर पुलिस को बुलाया गया और दरवाजा तोड़कर तीनों के शव निकाले गए। शवों के पास ही कीटनाशक की बोतल और तीन गिलास पड़े हुए थे।

पड़ोसियों ने बताया कि जयेश की चाय-नाश्ते की दुकान है। दोनों बेटे भी इसी दुकान पर पिता का हाथ बंटाया करते थे। जयेश की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद से ही तीनों तनावग्रस्त थे। तीनों ने खुद को घर में कैद कर लिया था। पड़ोसियों के बताए अनुसार, तीनों को खुद के भी संक्रमित होने का डर सता रहा था। वहीं, जयेशभाई की मौत की खबर सुनकर परिवार यह सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका और इसीलिए परिवार ने यह कदम उठा लिया।

Back to top button