छोटा पर्दा

खुद को बोलतीं शोषण का शिकार, फिर भी पुरानी ‘अंगूरी’ #MeToo के खिलाफ, क्यों?

इन दिनों बॉलीवुड में #MeToo कैंपेन की लहर दौड़ पड़ी है. कई दिग्गजों का नाम सामने निकल कर आया जिन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा.कई लोग इस कैंपेन के चलते उन लोगों का साथ दे रहे हैं जिनके साथ ऐसा कुछ भी हुआ है तो कुछ लोग इस मामले में कुछ भी बोलने से बचते नजर आ रहे हैं. इस मुहिम को लेकर ‘बिग बॉस 11’ की विजेता शिल्पा शिंदे ने अब ऐसी बात कह दी है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे.

#MeToo मुहिम को लेकर जब एक इंटरव्यू में शिल्पा शिंदे से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि,‘ये सब बकवास है. आपको तुरंत ही आवाज उठानी चाहिए. आपको उस मुद्दे के बारे में तभी बात करनी चाहिए तब वह होता है. मुझे भी यही सीख मिली है कि जब होता है तभी बोलो, बाद में बोलने का कोई फायदा नहीं है. इसका कोई फायदा नहीं है. बाद आप व्यॉइस रेज करते हो, उसको कोई नहीं सुनेगा, इससे सिर्फ कंट्रोवर्सी ही होगी और कुछ नहीं. जब भी कुछ होता है, उसी वक्त बोलो और हां आपको पॉवर की जरुरत तो होती ही है.’

शिल्पा आगे कहती हैं कि, ‘ये इंडस्ट्री बुरी नहीं है लेकिन बहुत अच्छी भी नहीं है. ये सब चीजें हर जगह होती है. मुझे नहीं पता कि क्यों खुद ही इंडस्ट्री का नाम खराब रहे है. जो लोग काम कर रहे है या काम पा रहे है क्या सब ही लोग खराब है. ऐसा नहीं है, ये सिर्फ आप पर निर्भर करता है. आपसे सामने वाला इंसान कैसे रिएक्ट करता है, आप उसको कैसे जवाब देते हो. महिलाएं खुलकर सामने आ रही है लेकिन मैं ये भी कहूंगी कि इस इंडस्ट्री में रेप नहीं होता है, जबरदस्ती नहीं होता है. हमारी इंडस्ट्री में जो भी होता है वह म्यूचल अंडरस्टैंडिंग की वजह से ही होता है. अगर आप उसे करने के लिए तैयार नहीं हो तो उसे छोड़ दो.’

बता दें कि शिल्पा शिंदे कलर्स टीवी के फेमस सीरियल “भाबीजी घर पर हैं ” में बतौर लीड एक्ट्रेस काम कर रही थीं.लेकिन शिल्पा ने इस शो के प्रोड्यूसर संजय कोहली पर यौन शोषण का आरोप लगाया था. हालांकि उनका ये आरोप साबित नहीं हो सका था और बाद में उनको बैन कर दिया गया था.

Back to top button