/** * The template for displaying the header * */ defined( 'ABSPATH' ) || exit; // Exit if accessed directly ?> क्या चीन ने मुंबई में किया था ब्लैकआउट?, अमेरिकी साइबर सिक्योरिटी कंपनी का दावा – JanMan tv
देश

क्या चीन ने मुंबई में किया था ब्लैकआउट?, अमेरिकी साइबर सिक्योरिटी कंपनी का दावा

वॉशिंगटन
लद्दाख में जारी तनाव के दौरान चीन अपने हैकर्स की मदद से भारत में ब्लैकआउट कराने की फिराक में था। अमेरिकी मीडिया न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक स्टडी के हवाले से दावा किया है कि चीनी हैकर्स की फौज ने अक्टूबर में मात्र पांच दिनों के अंदर भारत के पॉवर ग्रिड, आईटी कंपनियों और बैंकिंग सेक्टर्स पर 40500 बार साइबर अटैक किया था। इस स्टडी में कहा गया है कि जून में गलवान घाटी झड़प के चार महीन बाद 12 अक्टूबर को मुंबई में हुए ब्लैकआउट में चीन का हाथ था।

चीनी साइबर अटैक से गई थी मुंबई की बिजली?
दरअसल, यह भारत के पावर ग्रिड के खिलाफ एक व्यापक चीनी साइबर अभियान के हिस्से के रूप में चलाई जा रहे कैंपन का परिणाम था। चीन यह दिखाने की कोशिश में था कि अगर सीमा पर उसके खिलाफ कार्रवाई की गई तो वह भारत के अलग-अलग पावर ग्रिड पर मैलवेयर अटैक कर उन्हें बंद कर देगा। इस स्टडी में यह भी बताया गया है कि उन दिनों चीनी मैलवेयर भारत में बिजली की सप्लाई को नियंत्रित करने वाली प्रणालियों में घुस चुके थे। जिसमें हाई वोल्टेज ट्रांसमिशन सबस्टेशन और थर्मल पावर प्लांट भी शामिल थे।

अमेरिकी साइबर सिक्योरिटी कंपनी का दावा
अमेरिका की साइबर सिक्योरिटी कंपनी रिकॉर्डेड फ्यूचर (Recorded Future) की रिपोर्ट में भारत के बिजली सप्लाई लाइन में चीन की घुसपैठ का दावा किया गया है। यह कंपनी सरकारी एजेंसियों के साथ इंटरनेट के उपयोग की स्टडी करती है। कंपनी को बताया गया कि अधिकतर चीनी मैलवेयर कभी भी एक्टिवेट ही नहीं किए गए थे। हालांकि, रिकॉर्डेड फ्यूचर भारत के पावर सिस्टम के अंदर नहीं पहुंच सकता था इसलिए इसकी जांच नहीं की जा सकी।

पावर ग्रिड और ट्रांसमिशन लाइन में चीनी हैकर्स ने की थी घुसपैठ
रिकॉर्डेड फ्यूचर के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर स्टुअर्ट सोलोमन ने कहा कि चीन की सरकारी हैकर्स की रेड इको नाम की फर्म ने गुपचुप तरीके से भारत के एक दर्जन से ज्यादा पावर जनरेशन और ट्रांसमिशन लाइन मे घुसपैठ के लिए अडवांस साइबर हैकिंग के तकनीकों का व्यवस्थित रूप से उपयोग किया था। उस समय ही मुंबई में पावर ग्रिड फेल होने से बिजली सप्लाई बाधित हो गई थी। हालांकि, यह साबित नहीं किया जा सका था कि क्या इसके पीछे साइबर अटैक था या कोई दूसरी वजह।

12 अक्टूबर को क्या हुआ था मुंबई में?

12 अक्टूबर 2020 की सुबह मुंबई में अचानक से बिजली सप्लाई बंद होने से हड़कंप मच गया था। कभी न रुकने वाली मुंबई अचानक थम सी गई थी। बिजली जाने से कोरोना की मार झेल रहे मुंबई के अस्पतालों में वेंटिलेटर्स काम करना बंद कर दिए थे। ऑफिसों में बिजली चले जाने से अंधेरा हो गया था। हालांकि, 2 घंटे के मशक्कत के बाद फिर से पावर सप्लाई को चालू कर दिया गया था।

Back to top button