उत्तर प्रदेश

कौशाम्बी : बड़े हादसे का इंतजार कर रहे हैं विद्युत विभाग के अधिकारी

बरसात आंधी से टूटकर गिरी 11 हजार की तार गंभीर हादसे से बचे ग्रामीण डर के साये में जी रहे ग्रामीण

अझुवा कौशाम्बी।  विद्युत विभाग के अधिकारी क्षेत्र में किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहे हैं कई बार विद्युत तार टूट चुकी है पशुओं की मौतें हो चुकी हैं ग्रामीणों के सर में मौत मंडरा रही है बार-बार शिकायत के बाद विद्युत तार घरों के ऊपर से नहीं हटाई गई हैं बीती रात फिर तेज आंधी के चलते विद्युत तार टूट कर ग्रामीणों के घरों पर गिर गई हालांकि इस बार तार टूटने से जनधन की हानि नहीं हुई है लेकिन भविष्य में कभी भी विद्युत तार टूटने के चलते बड़ा हादसा हो सकता है

नगर पंचायत अझुवा के वार्ड नं 5 बीच का पुरवा अजमत पुर में बीती शाम तेज आंधी पानी से 11 हजार सप्लाई लाइन जो दर्जनों घरों के ऊपर से गुजरी है टूट कर गिर गयी।गनीमत रही किसी प्रकार का हादसा नही हुआ।जानकारी के अनुसार नगर पंचायत के वार्ड नं 5 बीच का पुरवा में दर्जनों घरों के ऊपर से 11 हजार की सप्लाई लाइन बिछी हुई है जिसे हटाने के लिए कई बार ग्रामीणों ने विभाग के अधिकारियों से कहा लेकिन विभाग ने घरों के ऊपर से गई विद्युत तार को नहीं हटाया और ग्रामीणों के सर पर खतरा मंडराता रहा 2 दिन से छिटपुट कभी तेज बेमौसम बरसात आंधी भी चल रही बीती शाम बुधवार को बिधुत सप्लाई की तार टूट कर फिर गिर गयी वहीं

ग्रामीणों ने विद्युत विभाग में पूर्व में सूचना भी दी थी लेकिन विद्युत विभाग निराला विभाग है जब तक माल मिलेगा नही तार जोड़ना मना है वहीं पवन मदन जितेंद प्रेमचंद्र जुगराज सहित तमाम ग्रामीणों ने जिम्मेदारों से अनुरोध किया है कि घरों के ऊपर से गुजरी सप्लाई लाइन को हटाया जाए,ग्रामीणों ने बताया कुछ महीनों पहले भी ऐसा ही हादसा हुआ था जिसमे एक किसान की भैंस मर गयी थी!!

बारिश के चलते गिरा गरीब का घर

कौशाम्बी मंझनपुर तहसील क्षेत्र के टेनशाह आलमबाद गांव में एक गरीब परिवार का घर गिरने से परिजन बेघर हो गए है किसी सरकारी अधिकारी की निगाह अब तक इन पर नही गयी। टेनशाह आलमबाद गांव के भैयालाल साहू का घर बारिश के कारण गिर गया है बारिश में गिर रहे गरीबों के घर ने एक बार फिर प्रधानमंत्री आवास योजना की धांधली खोल दी है यदि प्रधानमंत्री आवास योजना में पारदर्शिता हुई होती तो गरीबों के कच्चे खंडहर झोपड़ी के घर पक्के घर में परिवर्तित हो गए होते लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना में व्याप्त धांधली के चलते जरूरतमंदों को आवास की रकम नहीं मिल सकती है इसी का नतीजा फिर देखने को मिला है सरकारी अधिकारी पंचायत के जिम्मेदारों के दबाव मे आवास उपलब्ध करा रहे है और पंचायत के जिम्मेदार मोटा कमीशन वसूल कर आवास लाभार्थियों की सूची आगे भेज रहे हैं कई वर्षों से यह गरीब झोपड़ी नुमा कच्चे घर में अपना जीवन यापन कर रहे है कई बार शिकायत पर भी आज तक इन्हें आवास नही उपलब्ध कराया गया घर गिर जाने के बाद उसके सामने मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है

Back to top button