देश

कोरोना LIVE: 153 दिनों से था जिसका इंतजार, हरियाणा में वो ‘शून्य’ मिल गया

हरियाणा में दूसरी लहर में 153 दिनों के बाद कोई भी मौत नहीं हुई। इससे पहले 23 फरवरी शून्य मौत थी। वहीं, 17 मई को सबसे ज्यादा 182 लोगों की जान गई थी। जून के मध्य से मौतों का ग्राफ नीचे आने लग गया था। आखिरकार अब कीमती शून्य हासिल हुआ। इधर, प्रदेश में नए मरीजों का ग्राफ भी नीचे आ रहा है। एक दिन में 20 नए पॉजिटिव मिले हैं। 13 जिलों में कोई केस नहीं मिला है। साथ ही 45 मरीज ठीक भी हुए। अब कुल मरीजों की संख्या 7,69,982 हो गई है। इनमें से 7,59,405 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। वहीं, अब तक 10,011 की मौत हुई है। इसके साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या 566 रह गई है।

अब स्वास्थ्य विभाग पुरानी मौतों को एडजस्ट करने में लगा है। एक माह से ऐसा चल रहा है। मीडिया ने एक माह तक जो आंकड़ा जुटाया, उसके अनुसार 184 मरीजों ने दम तोड़ा है। जबकि, सरकार ने 284 मौतें दिखाईं। यह एडजस्टमेंट 12 जिलों में सबसे ज्यादा किया जा रहा है।

पानीपत में एक माह में 2 मौतें हुईं। सरकारी रिकॉर्ड में 8 दर्ज की गईं। महेंद्रगढ़ में 8 मौतें रिकॉर्ड में बताईं, जबकि एक माह में किसी की जान नहीं गई। सरकार धीरे-धीरे आंकड़े बढ़ा रही है। फिर भी 392 मौतों का फर्क है। राज्य में 10,011 मौतें हो चुकी हैं। विभाग अभी 9619 बता रहा है।

अधिकारियों का कहना है कि कोरोना से होने वाली मौतों का ऑडिट किया जाता है। देखा जाता है कि क्या मरीज की मौत की वजह कोरोना था। जिले की टीम प्रदेश स्तरीय कमेटी को रिपोर्ट भेजती है। यहां से मुहर लगने के बाद सरकारी रिकॉर्ड में मौत दर्ज की जाती है।


Back to top button