देश

कोरोना : प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन की दरें तय की सरकार, इससे ज्यादा मत दें!

बेंगलूरु. कोरोना टीके के लिए निजी अस्पताल प्रति खुराक 200 रुपए की सेवा शुल्क ही वूसल सकेंगे। राज्य सरकार ने उच्चतम सेवा शुल्क तय कर दी है। उपमुख्यमंत्री व कोविड टास्क फोर्स के अध्यक्ष डॉ. सी. एन. अश्वथ नारायण ने कहा कि सेवा शुल्क को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। अस्पताल अपने हिसाब से सेवा शुल्क वसूल रहे थे। उन्होंने सभी अस्पतालों से नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है। सांसद तेजस्वी सूर्या ने भी 23 मई को डॉ. अश्वथ नारायण को पत्र भेज सेवा शुल्क तय करने की अपील की थी।

उल्लेखनीय है कि प्राइवेट हॉस्पिटल्स एंड नर्सिंग होम्स एसोसिएशन (पीएचएएनए) ने स्वास्थ्य विभाग के अपर प्रधान सचिव को पत्र भेज सेवा शुल्क को मौजूदा 100 रुपए से बढ़ाकर 300 रुपए करने की मांग की थी।

पीएचएएनए के अध्यक्ष डॉ. एच. एम. प्रसन्ना के अनुसार टीके के लिए निजी अस्पतालों को लाखों खर्च करने पड़ रहे हैं। प्रत्येक अस्पताल को कोल्ड चेन, लॉजिस्टिक्स, सुरक्षित भंडारण और चोरी से सुरक्षा पर भी पैसा खर्च करने की जरूरत है।

ऑनसाइट टीकाकरण बूथ स्थापित करने में भी अतिरिक्त खर्च है। स्वास्थ्यकर्मियों को निजी सुरक्षा उपकरण की जरूरत भी पड़ती है। केवल 100 रुपए प्रति खुराक लेना अपर्याप्त होगा।

Back to top button