देश

कोरोना की तीसरी लहर से अगर बचानी है जान, तो गांठ बांध लें ये 5 जरूरी बात

भोपाल। कोरोना सिर्फ एक बीमारी (coronavirus) नहीं, संयम और जागरुकता की परीक्षा भी है। जब हम एकजुट होकर कोशिश करेंगे, तभी इसे मात दे पाएंगे। मास्क का प्रयोग, सोशल डिस्टेसिंग का पालन और टीकाकरण इससे लड़ने के लिए सशक्त हथियार हैं। इनके इस्तेमाल से हम निश्चित तौर पर महामारी को हराएंगे। अब 1 जून से मध्यप्रदेश अनलॉक हो रहा है। ऐसे में सावधानियों को लॉक करें। जानिए वे कौन-कौन सी सावधानियां हैं , जिनको अब भुलाया नहीं जा सकता है….

1-मास्क- सैनेटाइजर जरूरी

अभी भी कोरोना के केस मिल रहे हैं। ऐसे में पहले कोशिश हो कि बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे घर से बाहर न निकलें। यदि बहुत जरूरी हो तो हर व्यक्ति बिना मास्क और ग्लब्ज के बाहर न जाए। सैनेटाइजर भी अपने साथ रखें।

2- खाना-पानी साथ ले जाएं

यात्रा में किट साथ लें। इसमें टॉवेल, 2 बेडशीट व सेविंग किट जैसी जरूरी सामग्री साथ रखें। खाना और पानी भी घर का ही हो, ताकि बाजार से खरीदना न पड़े। अलग-अलग जगह का पानी भी बीमार कर सकता है।

3- डिजिटल पर जताएं भरोसा

किसी भी तरह का पेमेंट डिजिटली करें। नेटबैकिंग के साथ यूपीआई या ऐसे ही किसी पेमेंट बैंक का इस्तेमाल कर सकते हैं। बिजली, टेलीफोन और पानी का बिल भी ऑनलाइन भरें। इससे आप भीड़-भाड़ से बचेंगें।

4- दफ्तर में सतर्कता आवश्यक

ऑफिस में सहकर्मियों और दफ्तर के लोगों से दूरी बनाए रखें। गेट के हैंडल, लिफ्ट के बटन आदि को छूने से बचें। गेट खोलने के लिए कोहनी और लिफ्ट का बटन दबाने के लिए चाबी आदि इस्तेमाल कर सकते हैं।

5- सामग्री नहीं करें साझा

खाना, मोबाइल या ऐसी ही अन्य तरह की चीजें साझा नहीं करें। क्योंकि ऐसे में संक्रमित होने का खतर हो सकता है। बाजार से सामग्री खरीदकर घर लाएं तो उसे अच्छे से सैनेटाइज करें अथवा पानी से धो लें।

Back to top button