उत्तर प्रदेश

कुंभ ट्रेनिंग में आए पुलिसकर्मियों ने दिखाई अश्लीलता, अधिकारियों की बोलती हुई बंद

कुंभ ड्यूटी के लिए एक ओर भीड़ प्रबंधन और आपदा से बचाव की ट्रेनिंग चली और दूसरी ओर होटल में फिल्मी और लोक धुनों पर हुआ धमाल। 15 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं के बीच कुंभ में आपदा से बचाव का जिन कंधों पर भार दिया जाना है, उन्होंने शुक्रवार को मस्ती और रंगमिजाजी के बीच ठुमके लगाकर अपने ही महकमे के अफसरों की बोलती बंद करा दी। 

सोशल मीडिया पर नशे में धुत अफसरों के डांस का वीडियो वायरल होने के बाद यह मामला सामने आया। सिविल डिफेंस की डिप्टी कंट्रोलर ने ट्रेनिंग में आए अफसरों के डांस की पुष्टि तो की, लेकिन उनका कहना है कि प्रशिक्षण के दौरान ऐसा नहीं हुआ, बल्कि होटल के कमरे में बाहर से आई टीम ने मनोरंजन के लिए नृत्य-संगीत किया था।

प्रयागराज में दो माह बाद जनवरी-2019 में लगने वाले कुंभ के लिए सिविल डिफेंस के 150 अधिकारियों, कर्मचारियों को आपदा प्रबंधन के लिए प्रशिक्षित किया जाना है। इस प्रशिक्षण शिविर के पहले सत्र का उद्घाटन नागरिक सुरक्षा, होमगार्ड मंत्री अनिल राजभर ने किया था। 

पांच दिवसीय दूसरे सत्र की शुरुआत विकास भवन के सरस सभागार में 10 नवंबर को हुई थी। 50 सदस्यीय इस बैच में लखनऊ के सिविल डिफेंस के 10 अफसर शामिल थे। सिविल डिफेंस से जुड़े प्रयागराज के एक अधिकारी ने बताया कि लखनऊ से प्रशिक्षण के लिए आई टीम को लीडर रोड स्थित एक होटल में ठहराया गया था। 

सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो में सिविल डिफेंस लखनऊ के कुछ अफसर नशे में धुत होकर नृत्य करते नजर आए तो महकमे के अफसर सन्न रह गए। दिन भर आपदा प्रबंधन के लिए संगम तट से लेकर सरस सभागार तक गई टीमों से इस वायके को लेकर जानकारी ली जाती रही। 

देर शाम सिविल डिफेंस के अफसरों ने वायरल वीडियो में लखनऊ से आए सहायक उप नियंत्रक स्तर के अधिकारी के थिरकने-झूमने की पुष्टि की। सिविल डिफेंस के कुछ अधिकारियों ने सफाई में इसे बेहद निजता से जुड़ा मामला बताया और कहा कि प्रशिक्षण में कोई कोताही नहीं बरती गई। फुर्सत के क्षणों में होटल के कमरे में मनोरंजन के लिए कोई भी स्वतंत्र है। इस वीडियो को वायरल कर किसी ने शरारत की है।

Back to top button