उत्तर प्रदेश

काशी में ‘यास’ का असर, अब BHU के DRDO अस्पताल से शिफ्ट होंगे संक्रमित मरीज

वाराणसी :  उत्तर प्रदेश के वाराणसी में साइक्लोन ‘यास’ को लेकर प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। साइक्लोन के अलर्ट के बाद बीएचयू में बने पंडित राजन मिश्र डीआरडीओ कोविड अस्पताल में भर्ती कोविड मरीजों के शिफ्ट करने का फैसला लिया गया है। अस्पताल में भर्ती इन कोविड मरीजों को बीएचयू के सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में शिप्ट किया जा सकता है। इसके लिए बीएचयू अस्पताल प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है।

मीडिया  से बातचीत से बीएचयू सर सुंदरलाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ के के गुप्ता ने बताया कि डीआएडीओ अस्पताल से कोविड मरीजों के शिफ्टिंग को लेकर हमारी तैयारी पूरी है। जैसे ही जिला प्रशासन की ओर से ग्रीन सिग्नल मिलेगा। अस्पताल में मरीजों की भर्ती का काम शुरू किया जाएगा।

डीआरडीओ अस्पताल में 115 मरीज हैं भर्ती
बीएचयू के एम्फीथिएटर मैदान में बने 750 बेड के पंडित राजन मिश्र डीआरडीओ कोविड अस्पताल में वर्तमान में 115 मरीजों का इलाज जारी है। यास साइक्लोन को लेकर जारी अलर्ट के बाद मरीजों की सुरक्षा के मद्देनजर डीआरडीओ कोविड अस्पताल प्रशासन ने इन्हें शिफ्ट करने का फैसला लिया है। वाराणसी के डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि मौसम बिगड़ने के साथ ही मरीजों के शिफ्टिंग का काम शुरू किया जा सकता है। इसको लेकर प्रशासन ने तैयारी कर ली है। फिलहाल डीआरडीओ अस्पताल से उन 8- 10 मरीजों को सुपर स्पेशिएलिटी ब्लॉक में शिफ्ट किया जाएगा जिन्हें देंखने के लिए हर रोज बीएचयू अस्पताल से डॉक्टरों को DRDO अस्पताल आना पड़ता है।

सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल में खाली हैं 200 से अधिक बेड
बीएचयू के सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में कोविड मरीजों के 310 बेड की व्यवस्था की गई थी। वर्तमान में इस अस्पताल में 200 से अधिक बेड खाली हैं। प्रशासन से ओर से जारी अलर्ट के बाद बीएचयू अस्पताल प्रशासन ने इन बेड पर कोविड मरीजों के इलाज के लिए व्यवस्थाओं को दुरुस्त कर लिया है।

Back to top button