जिंदगी

कामसूत्र का सैकड़ों साल पुराना अद्भुत राज़, इस ट्रिक से होगी परम-आनंद की अनुभूति

सेक्स को दुनिया का सबसे हसीन खेल माना जाता है क्योंकि इसमें प्राप्त होने वाली अनुभूति आनंद की पराकाष्ठा देने वाली होती है. जैसे क्रिकेट खेलने से पहले बल्लेबाज़ वॉर्मअप करता है और फिर एक लंबी पारी खेलते हुए चौके, छक्कों के साथ विजयी हेलीकाप्टर शार्ट लगाकर पवेलियन लौटता है और ये क्षण मैच का सबसे खूबसूरत पल होता है.

उसी तरह अगर आप अपनी सेक्स लाइफ को रोमांचक और बेहतरीन बनाना चाहते हैं तो सेक्स से पहले सटीक फोरप्ले जरूर करें क्योंकि ये मैच शुरू होने से पहले जरुरी वॉर्मअप जैसा. विशेषज्ञ फोरप्ले को सेक्स फील कराने के साथ-साथ उत्तेजना पैदा करने का सबसे कामयाब औजार (प्रक्रिया) मानते हैं. आप जितना ज्यादा फील करेंगे सेक्स के आखिरी पलों में आपको चरम-सुख के साथ परमसुख की अनुभूति होगी.

कामसूत्र…

महर्षि वात्स्यायन का कामसूत्र विश्व की प्रथम यौन संहिता है जिसमें सेक्स की बारीकियों और हरेक पहलु को तथ्यों के साथ लिखा गया है.

फोरप्ले के दौरान “किस” भी अहम् रॉल अदा करता है. कामसूत्र में लवमेकिंग को स्लो प्रोसेस बताया गया है यानि सेक्स के दौरान बिलकुल भी हड़बड़ी नहीं होनी चाहिए बल्कि धीरे-धीरे प्यार जताना एक महत्वपूर्ण बात है.किस करने का मतलब सिर्फ यह नहीं कि आप पार्टनर के साथ लिप लॉक करें.

फोरप्ले का मकसद दोनों पार्टनर की उत्तेजना को चरम तक पहुंचाना ताकि आप दोनों सेक्शुअल ऐक्ट को इंजॉय कर सकें. ऐसे में आप चाहें तो पार्टनर के होंठों के साथ-साथ गर्दन, कान के पीछे, चेस्ट पर या अन्य ऐसी संवेदनशील जगहों पर भी किस कर सकते हैं. पार्टनर को तब तक किस करते रहें जब तक उनकी सांसें प्रत्येक किस के साथ तेज न होने लगे.
Back to top button