उत्तर प्रदेश

कानपुर: संक्रमितों का बुखार-ऑक्सीजन मापने से मना करने पर सफाईकर्मियों को पीटे डॉक्टर, हैलट में काम ठप

कानपुर स्थित हैलट अस्पताल में सफाई कर्मचारी और उसके सुपरवाइजर ने डॉक्टरों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए मंगलवार रात काम ठप कर दिया। आरोप है कि कोरोना मरीजों का बुखार, ऑक्सीजन लेवल और बीपी उनसे नपवाते हैं। इसी का विरोध करने पर डॉक्टरों ने एकजुट होकर पीटा है। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल और पुलिस दोनों पक्षों में समझौता कराने का प्रयास कराने में जुटी है। जबकि कर्मचारी डॉक्टरों से माफी मंगवाने की बात पर अड़े हैं। हैलेट में रात तक कर्मचारियों का हंगामा चलता रहा।

80 कर्मचारियों ने काम ठप किया
आउटसोर्सिंग सफाईकर्मी दलेलपुरवा निवासी आसिफ ने बताया कि उनकी ड्यूटी न्यूरो साइंस कोविड वार्ड में लगी थी। आरोप है कि मंगलवार को डॉक्टर कर्मचारियों से ही मरीजों का बुखार, ऑक्सीजन और बीपी जबरन नपवा रहे थे। इसी का विरोध करने पर डॉक्टर आनंद कुमार ने पीट दिया। इसकी सूचना उसने अपने सुपरवाइजर विपिन को दी तो वो भी मौके पर पहुंच गए। आरोप है कि विपिन को भी डॉक्टरों ने पीट दिया। घटना की जानकारी पर अस्पताल में मौजूद करीब 80 कर्मचारियों ने कामकाज ठप कर दिया।

समझौता करने में डटे रहे प्रिंसिपल और पुलिस
सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। मौके पर प्रिंसिपल आरके कमल को बुलाया गया है। उन्होंने दोनों डॉक्टरों को मौके पर बुलवा कर पूछताछ की है। पुलिस ने सभी कर्मचारियों को काम पर लौटने के लिए कहा, लेकिन सभी डॉक्टरों के माफी मांगने की मांग पर अड़े रहे। अभी दोनों पक्षों में समझौता कराने का प्रयास जारी है।

Back to top button