उत्तर प्रदेश

कानपुर : पति ने दिया तीन तलाक, इंसाफ के लिये दर-दर भटक रही पीड़िता

पति पर अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने का लगाया आरोप

कानपुर।(आरएनएस ) सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद तीन तलाक के मामले रुकने के नाम नहीं ले रहा है। अब ताज़ा मामला कानपुर का सामने आया है जहां एक पति ने अपनी पत्नी को सरेआम मारने पीटने के बाद तीन तलाक दे दिया है। नकाब पहन कर पीड़ित महिला अधिकारियों की चौखट में इंसाफ की गुहार लगाती घूम रही पीड़िता दरख़्शा परवीन है जिसे उसके पति ने तीन तलाक दे दिया है। बुधवार को अशोक नगर स्थित कानपुर जर्नलिस्ट क्लब में नौबस्ता की रहने वाली पीड़िता दरख़्शा परवीन ने प्रेसवार्ता में पत्रकारों को बताया की उसकी शादी 1 सितम्बर 2008 को चकेरी थाना क्षेत्र के श्याम नगर में रहने वाले मोहम्मद असद कुरैशी पुत्र स्व समीममुद्दीन के साथ हुई थी। शादी के 13 साल बीत चुके है इसी बीच हमारे तीन बच्चे भी हुए दोनों में शादी के बाद से झगड़ा शुरू हो गया था। दरख़्शा का कहना है कि उसका पति असद आशिक़ मिजाज का व्यक्ति है उससे शादी से पहले वो एक हिन्दू लड़की को लेकर भाग कर शादी कर चुका था।

फिर शादी के बाद उसे इतना प्रताड़ित किया कि वो भाग गई। उसके बाद फिर दूसरी महिला से शादी की फिर कुछ समय बाद उसे भी छोड़ दिया और तीसरी मैं हूं अभी भी वो बेवफाई कर रहा है। दरख़्शा का आरोप है कि उसका पति असद अपना नाम बदलकर कभी आशु तो कभी आशीष बनकर भोली-भाली लड़कियों को फंसाता है फिर उनके अश्लील वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल कर वसूली करता है यही उसका धंधा है। दरख़्शा के अनुसार असद ने उसका भी अश्लील वीडियो बना रखा है और उसे वायरल करने की धमकी देकर मेरे साथ भी मनमानी करता है। और विरोध करने पर अपने राजनैतिक दोस्तों की धौंस देकर मायके वालों को फर्जी मुकदमा में फाँसने की धमकी देता रहता है। आखिर में परेशान होकर दरख़्शा ने 18 नवम्बर को पति और ससुरालीजनों पर दहेज उत्पीड़न और तीन तलाक का केस दर्ज कराया।

लेकिन उसके राजनीतिक रसूक के चलते पुलिस कोई कार्यवाही नही कर रही है।शादी के 13 सालों तक मारपीट और रोज रोज के झगड़ों का अंत तीन तलाक के रूप में सामने आया है। दरख़्शा तलाक देने वाले पति के खिलाफ कानूनी कार्यवाही के लिए इंसाफ की गुहार दर दर भटकने को मजबूर है। अब वह बेवफा पति को सजा दिलाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है।

Back to top button