उत्तर प्रदेश

कर्मचारी संयुक्त परिषद ने 518 मृत कर्मियों को भेजी पहली लिस्ट

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को कोरोना संक्रमण से मृत्यु का शिकार हुए 518 कार्मिकों की पहली सूची भेजी है। परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी ने मुख्यमंत्री को भेजी सूची के साथ कोरोना से मृत कर्मचारियों की संख्या एक हजार से अधिक होने की बात कही है। उन्होंने मांग की है कि बिना भेदभाव के कोरोना डयूटी के दौरान एवं ड्यूटी से लौटने के पश्चात मृत्यु का शिकार कोरोना कार्मिकों के परिवार को बिना कोई पेंच फॅसाए हाईकोर्ट की मंशानुसार एक करोड़ रुपये का मुआवजा तत्काल उपलब्ध कराया जाए। परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी और महामंत्री शिवबरन सिंह यादव की तरफ से भेजी गई सूची एवं पत्र के माध्यम से कहा गया है कि परिषद ने पंचायत चुनाव की घोषणा के दरम्यान कोरोना की स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार और राज्य निर्वाचन आयोग को विभिन्न पत्राचारों के माध्यम से वस्तु स्थिति से अवगत कराते हुए पहले चुनाव, फिर प्रशिक्षण, मतदान और फिर मतगणना को कुछ समय के लिए टालने का आग्रह किया था।

मतगणना के दौरान तेज संक्रमण काल के कारण हम इस मामले को सुप्रीम कोर्ट तक लेकर गए लेकिन सरकार विभिन्न वायदे और विश्वास दिलाकर मतगणना कराने में कामयाब रही जबकि सरकार की तरफ से कोर्ट में किए गए वायदे और विश्वास का दस फीसदी तक पालन नही किया गया जिसका परिणाम काफी चुनाव डियुटी वाले कार्मिक असमय काल के गाल में समा गए

Back to top button