ख़बरखेलदेश

ऑस्ट्रेलिया : भारतीय फैन उठाया नस्लभेद का मुद्दा उठा तो गार्ड बोला- जहां से आए वहीं जाओ

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज के आखिरी दो टेस्ट में भारतीय खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के अभद्र टिप्पणियों का सामना करना पड़ा। सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं, बल्कि एक इंडियन फैन भी इस डर्टी गेम का शिकार हुआ है। सिडनी टेस्ट के तीसरे और चौथे दिन ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की थी।

सिडनी में टेस्ट के 5वें दिन एक भारतीय फैन नस्लभेद के खिलाफ 4 बैनर लेकर पहुंचा था। सिक्योरिटी गार्ड ने उस फैन को बैनर ले जाने की अनुमति नहीं दी। साथ ही भारत जाकर नस्लभेद का मुद्दा उठाने के लिए कहा। फिलहाल सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) के अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं।

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड में छपी रिपोर्ट
सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड में छपी रिपोर्ट के मुताबिक कृष्णा कुमार नाम के एक फैन ने सिक्योरिटी गार्ड के खिलाफ आधिकारिक तौर पर शिकायत दर्ज कराई है। अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक सिडनी में रहने वाले कृष्णा तीसरे टेस्ट के आखिरी दिन 4 बैनर के साथ स्टेडियम पहुंचे थे।

बैनर में नस्लभेद के खिलाफ मैसेज लिखे गए थे। इसमें ”नो रेसिज्म मेट”, ”ब्राउन इन्क्लुजन मैटर्स”, ”राइवेलरी इज गुड, रेसिज्म इज नॉट’ और ”क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया…मोर डाइवर्सिटी प्लीज” शामिल है।

सिक्योरिटी गार्ड्स ने कृष्णा को वापस जाने के लिए कहा
रिपोर्ट के मुताबिक कृष्णा को गेट पर रोक दिया गया। सिक्योरिटी गार्ड ने उन्हें 4 में से एक बैनर को अंदर ले जाने की अनुमति नहीं दी। सिक्योरिटी वालों ने इसके लिए बड़े आकार का हवाला दिया। गार्ड्स ने कृष्णा को सिक्योरिटी सुपरवाइजर से इजाजत लेने की मांग की और वापस जाने के लिए कहा।

मामले को अपने भारत जाकर उठाना
अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक सिक्योरिटी गार्ड ने कृष्णा से कहा, ‘अगर आपको यह मामला उठाना है, तो वहां जाओ (भारत) जहां से आए हो।’ कृष्णा के मुताबिक बैनर काफी छोटा था और उन्होंने उसे अपने बच्चों के पेपर रोल से बनाया था। गार्ड ने बैनर को गाड़ी में छोरकर आने के लिए कहा।

सिक्योरिटी चेक के दौरान भी कृष्णा को परेशान किया गया
इतना ही नहीं कृष्णा को सिक्योरिटी चेक के दौरान भी परेशान किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक उनके बैग को पूरी तरह से खाली कराया गया। साथ ही मिड रैंकिंग सिक्योरिटी ऑफिसर भी उनके खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग कर रहा था। कृष्णा के मुताबिक स्टेडियम में विक्टर ट्रंपर स्टैंड में बे-11 सीट लेने के बाद भी उन्हें परेशान किया गया।

उस जगह पर कई सिक्योरिटी ऑफिसर तैनात किए गए, जिसमें एक भारतीय मूल की गार्ड भी शामिल थी। सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के मुताबिक, सिडनी क्रिकेट ग्राउंज के ऑपरेटर्स ने कृष्णा मामले की जांच शुरू कर दी है।

चौथे टेस्ट में भी अभद्र टिप्पणी की गई
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथे टेस्ट में भी टीम इंडिया के 2 प्लेयर्स पर अभद्र और नस्लीय टिप्पणी की गई। ऑस्ट्रेलिया के अखबार सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के मुताबिक भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज और वॉशिंगटन सुंदर को दर्शकों ने कीड़ा (ग्रब) कहा।

पिछले 6 दिन में तीन बार भारतीय खिलाड़ियों पर अभद्र टिप्पणी की जा चुकी है। इससे पहले, सिडनी टेस्ट के तीसरे और चौथे दिन ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने सिराज को मंकी और डॉग कहा था।

CA के आश्वासन के बावजूद हुई घटना
सिडनी में विवाद के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने टीम इंडिया से माफी मांगी थी। उन्होंने कहा था कि नस्लीय टिप्पणी को लेकर हमारी जीरो टॉलरेंस पॉलिसी है। हम इस प्रकार की घटना को बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेंगे और मामले पर एक्शन जरूर लिया जाएगा।

इसके बावजूद लगातार दूसरे टेस्ट में नस्लीय टिप्पणी का मामला सामने आया। इतना ही नहीं इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने (ICC) ने भी सिडनी वाले घटना की निंदा की थी। CA और न्यू साउथ वेल्स पुलिस फिलहाल सिडनी मामले की जांच कर रही है।

Back to top button