देश

एक बार फिर बोले केजरीवाल- सब मिले हुए हैं जी..लेकिन क्यों ?

अरविन्द केजरीवाल की अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी को लोकसभा चुनाव के ठीक पहले गठबंधन के मोर्चे पर बड़ा झटका लगा है. कांग्रेस ने आप से गठबंधन से इंकार कर दिल्ली की सभी सीटों पर लड़ने का फैसला किया है. कांग्रेस के इस फैसले के बीच आप संयोजक अरविन्द केजरीवाल का बड़ा सामने आया है. केजरीवाल ने कांग्रेस और बीजेपी के मिले होने का आरोप लगाया है.

मंगलवार को कांग्रेस द्वारा आप से गठबंधन को’ना’ सुनने के ठीक बाद अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीटर पर लिखा “ऐसे समय पर जब पूरा देश मोदी-शाह को को हराना चाहती है, ऐसे वक्त पर कांग्रेस बीजेपी विरोधी वोट को बांटकर सहायता कर रही है. बात चल रही है कि बीजेपी और कांग्रेस के बीच कुछ गुप्त समझौता हुआ है. दिल्ली बीजेपी-कांग्रेस के गठबंधन के खिलाफ लड़ने को तैयार है. जनता इस अपवित्र गठबंधन को हराएगी”.

इससे पहले राहुल गांधी ने मंगलवार को पार्टी हेडक्वार्टर में सभी नेताओं और पदाधिकारियों की अहम बैठक बुलाई थी. सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में दोनों पार्टियों के बीच सीट बंटवारे के लिए 3+3+1 के फॉर्मूले पर विचार किया गया. इस फॉर्मूले के तहत आम आदमी पार्टी (AAP) और कांग्रेस दिल्ली की कुल 7 लोकसभा सीटों में से 3-3 सीटों पर अलग-अलग चुनाव लड़ती. एक सीट पर दोनों दलों के संयुक्त उम्मीदवार को उतारा जाना था. हालांकि राहुल गांधी के साथ कांग्रेस नेताओं की बैठक में गठबंधन न करने का फैसला लिया गया.

बता दें कि आप के संयोजक अरविन्द केजरीवाल कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाहते थे. बीते दिनों वे सार्वजानिक मंच से इसकी कई बार मंशा भी जता चुके थे.

Back to top button