देश

एक्शन में एमएलए: बोले- कफन साथ लेकर चलता हूं, अवैध शराब नहीं बिकने दूंगा

जयपुर.

राजस्थान में दौसा जिले की महवा सीट से विधायक ओमप्रकाश हुड़ला ने एक बार फिर शराब माफिया के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। पिछले दिनों उन्हें धमकी मिली थी और उनके होटल पर पथराव भी किया गया था। इसके बाद सरकार ने उन्हें Y सुरक्षा मुहैया कराई है।

विधायक हुड़ला ने अपने फिर से एक्शन में आने पर कहा – मैं मौत से नहीं डरता, ढाई मीटर का कफन साथ लेकर चलता हूं। चाहे मुझे जान से मार दो, लेकिन मेरे क्षेत्र में नियम विरूद्ध काम नहीं होने दूंगा। हुड़ला ने कई गांवों का दौरा कर शराब ठेकेदारों की आबकारी विभाग से मिलीभगत को उजागर किया। विधायक द्वारा शराब माफिया के खिलाफ शुरू किए गए इस अभियान के बाद आबकारी विभाग व अवैध रूप से शराब बेचने वालों में हडकंप मच गया है। लोगों ने विधायक के इस प्रयास को नशे के खिलाफ सराहनीय कदम बताया है।

शराब व्यवसायी से हुई थी तकरार

पिछले दिनों क्षेत्र के एक शराब व्यवसायी की महवा विधायक से फोन पर हुई बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ था। ऑडियो में दोनों के बीच तीखी नोकझोंक सामने आई थी। इसके बाद अज्ञात युवकों ने विधायक के होटल पर पथराव कर तोड़फोड़ कर दी थी। विधायक ने शराब माफिया पर पथराव कर उन्हें धमकाने का आरोप लगाया था। हालांकि मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई, लेकिन होटल पर पथराव की घटना के बाद विधायक ने शराब माफिया के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

आबकारी को कार्रवाई के निर्देश

क्षेत्र के सिंदूकी व सालिमपुर के ग्रामीणों की शिकायत पर विधायक शराब ठेके पर पहुंचे और पांच बजे बाद दुकान खुली मिलने पर व्रिकेता को जमकर फटकार लगाई। मौके से ही आबकारी इंस्पेक्टर को फोन कर निर्धारित समय के बाद दुकानें खुलने की शिकायत कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

विधायक बोले नहीं होने दूंगा गलत काम

विधायक ने शराब माफिया को अवैध कारोबार बंद करने की चेतावनी देते हुए कहा कि गुंडई तो छोड़नी पडे़गी और गैर कानूनी काम भी नहीं चलेगा। आप मुझे जान से मारने की धमकी देते हो तो दीजिए, लेकिन गलत काम किसी कीमत पर नहीं होने दूंगा। सिंदूकी व सालिमपुर के लोगों ने मुझे फोन करके बुलाया है, शाम पांच बजे दुकान खुल रही है। ये गैर नियम काम है, मैं इसे रोकूंगा, चाहे मुझे मेरी मौत की कीमत चुकानी पड़े।

Back to top button