खेल

इंग्लैंड के खिलाफ जीत के बाद भी इस बात ने नाराज हैं कप्तान कोहली, जानिए क्या है वजह

अहमदाबाद : अहमदाबाद में भारत और इंग्लैंड का मैच दूसरे दिन ही समाप्त हो गया। भारत के सामने जीत के लिए चौथी पारी में 49 रन का लक्ष्य था जिसे उसने बिना विकेट खोए हासिल कर लिया। भारतीय कप्तान विराट कोहली हालांकि पिच को लेकर उठ रहे सवालों से सहमत नहीं हैं। कोहली ने कहा कि भले ही नतीजा उनके पक्ष में आया हो लेकिन दोनों टीमों की बल्लेबाजी बिलकुल स्तरीय नहीं थी।

कोहली ने मैच के बाद प्रजेंटेशन के दौरान कहा, ‘सच कहूं तो लगता नहीं कि बल्लेबाजी अच्छी थी। दोनों टीमों ने बहुत खराब बल्लेबाजी की।’ भारतीय कप्तान ने कहा कि हमारा स्कोर पहली पारी में तीन विकेट पर 100 रन था और ऐसी स्थिति से हमें बड़ा स्कोर बनाना चाहिए था लेकिन हम 150 से कम पर आउट हो गए।

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘मुझे लगता है कि विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छा था। गेंद बल्ले पर अच्छे से आ रही थी। खास तौर पर पहली पारी में।’ विकेट पर अधिक टर्न होने की बात से भी कोहली सहमत नजर नहीं आए। उन्होंने कहा, ‘यह हैरान करने वाली बात है कि मैच में जो 30 विकेट गिरे उसमें से 21 सीधी गेंदों पर गिरे। यानी गेंद इतनी टर्न नहीं हो रही थी। टेस्ट क्रिकेट में आपको अपने डिफेंस पर यकीन करना पड़ता है।’

कोहली बल्लेबाजों द्वारा दिखाए गए जुझारूपन से निराश दिखे। उन्होंने कहा, ‘बल्लेबाजों ने जज्बा नहीं दिखाया और इसी वजह से यह मैच जल्दी समाप्त हो गया।’

भारत की ओर से इस मैच में 79.2 ओवर गेंदबाजी की। इसमें से ईशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह ने सिर्फ 11 ओवर ही गेंदबाजी की। कोहली ने कहा कि इस पर बुमराह ने उनसे कहा, ‘मुझे खेलते हुए ही वर्कलोड मैनेजमेंट मिल रहा है। वहीं ईशांत की शिकायत थी कि उन्हें अपने 100वें टेस्ट मैच में गेंदबाजी नहीं करने को मिल रही।’

कोहली ने की अक्षर पटेल की तारीफ
भारत की ओर से अक्षर पटेल ने मैच में 11 विकेट लिए। उन्होंने पहली पारी में छह और दूसरी में पांच विकेट लिए। कोहली ने कहा, ‘जब जडेजा के नहीं खेलने की बात सामने आई थी तो शायद कई लोगों को काफी राहत मिली होगी। लेकिन यह लड़का अक्षर पटेल आता है। और अच्छी हाइट से भी तेज गेंद फेंकता है। मुझे समझ नहीं आता कि गुजरात में ऐसा क्या खास है कि वहां से इतने लेफ्ट आर्म स्पिनर आते हैं। आप इनकी गेंद पर स्वीप नहीं कर सकते और नही डिफेंड कर सकते हैं क्योंकि वह लगातार आप पर आक्रामक गेंदबाजी करते हैं।’

कोहली ने कहा, ‘अगर विकेट से जरा भी मदद मिल रही हो तो अक्षर बेहद खतरनाक हो जाते हैं। इसके साथ ही हमें रविचंद्रन अश्विन की तारीफ करनी चाहिए। वह टेस्ट क्रिकेट में आधुनिक दौर के महान खिलाड़ी हैं। कप्तान के तौर पर मैं बहुत खुश हूं कि अश्विन मेरी टीम में हैं।’

Back to top button