क्राइम

आपदा में अवसर: लोगों को घर बैठे रुपए दोगुने करने का दिया लालच, मुनाफा बढ़ा तो फरार हुआ ठग

कोरोना संक्रमण के इस दौर में जहां कुछ लोग जरूरतमंद लोगों की मदद कर मानवता दिखा रहे हैं। वहीं कुछ लोग इस आपदा को अवसर में बदल ठगी की वारदात को अंजाम देने से भी बाज नहीं आ रहे। ऐसा ही मामला उदयपुर में सामने आया है। जहां पैसा दोगुना करने का लालच देकर अहमदाबाद के प्रशांत पुष्पानी ने 500 से अधिक शहरवासियों को बेवकूफ बना करोड़ों रुपए का चूना लगा दिया।

40% रकम बढ़ाकर देने का किया था वादा

उदयपुर के रहने वाले रामकेश ने बताया कि उसने अपनी जमा पूंजी के 23 लाख रुपए प्रशांत पुष्पानी को दिए थे। इसके एवज में प्रशांत ने उसे कागजात भी मुहैया कराए थे। इसमें हर महीने रकम पर 40% तक लाभ देने की बात कही थी। कुछ दिन बीत जाने के बाद प्रशांत ने उससे बातचीत बंद कर दी और अंबामाता थाना क्षेत्र में बने ऑफिस को बंद कर उदयपुर से ही फरार हो गया। इसके बाद पीड़ित रामकेश ने अब पुलिस अधीक्षक से इस मामले की शिकायत दर्ज की है।

रामकेश ने बताया कि उसकी तरह उदयपुर में कई युवाओं को प्रशांत रकम दोगुनी करने का लालच देकर अपना शिकार बना चुका है। इस गोरखधंधे में प्रशांत की महिला मित्र यापी बजाज भी उसका साथ देती थी। जो प्रशांत पुष्पानी के साथ 4 मई से गायब है।

उदयपुर पुलिस अधीक्षक से शिकायत करने पहुंचे पीड़ित।

ड्राइवर की नौकरी करता था प्रशांत

प्रशांत द्वारा की गई ठगी के शिकार मनीष ने बताया कि डेढ़ साल पहले तक प्रशांत उदयपुर के अनंता रिसोर्ट में ड्राइवर की नौकरी करता था। इसी दौरान उसने बिटकॉइन और ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट के नाम पर रुपए दोगुने करने का लालच दिया। इसके बाद मेरे जैसे कुछ और लोगों ने भी प्रशांत को अपनी जमा पूंजी दी।

उसने साथ काम करने वाले अन्य ड्राइवरों काे शेयर मार्केट, बिट काॅइन सहित अन्य स्कीमें बताई। उसने कहा कि इनमें 1000 रुपए इन्वेस्ट कराेगे ताे जमा पूंजी के अलावा 400 रुपए दूंगा। शुरुआती दिनों में प्रशांत ने 40% मुनाफे के साथ हमें लौटाई भी थी। इसी लालच में आकर हमने चयन बनाते हुए दूसरे लोगों को भी इस स्कीम से जुड़ा था। धीरे-धीरे जब मुनाफा बढ़ने लगा तो प्रशांत ने रुपए देना बंद कर दिया। अब 4 मई को मोबाइल फोन बंद कर उदयपुर से फरार हो गया है।

कुछ साल पहले तक उदयपुर में ड्राइवर की नौकरी करता था प्रशांत।

राजस्थान के दूसरे जिलों में भी जनता को बेवकूफ बना रहा था प्रशांत
एडवोकेट कौशिक आर्य ने बताया कि प्रशांत अब तक उदयपुर के साथ बांसवाड़ा, राजसमंद, अजमेर, कोटा, जोधपुर समेत प्रदेश के कई अन्य जिलों में जनता को बेवकूफ बना बना रहा था। इसमें अरुणाचल प्रदेश की निवासी उसकी महिला साथी यापी बजाज भी शामिल थी। यह दोनों मिल जनता को शेयर मार्केट, बिटकॉइन और आईपीएल जैसे आयोजनों पर ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट की बात कहते और रकम दोगुना करने का लालच देकर जनता को बेवकूफ बना रहे थे। जिसकी शिकायत उदयपुर पुलिस से की गई है।

Back to top button