खेल

अहमदाबाद का मोटेरा स्टेडियम भारतीय खिलाड़ियों के लिए रहा है खास, जानें 10 खास उपलब्धियां

भारत और इंग्लैंड के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला अहमदाबाद के मोटेरा के ऐतिहासिक क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा. ये देश दोनों ही देशों के लिए काफी दरअसल ये मैच दोनों ही टीमों के बीच पहला डे-नाईट टेस्ट होगा. इसके आलावा अब ये ये मैच नये मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा. पिछले कुछ समय से इस मैच में निर्माण कार्य चल रहा हैं. अब ये मैदान दुनिया के सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बन चूका हैं.

अहमदाबाद का मैदान इंडियन खिलाड़ियों के लिए हमेशा खास रहा हैं. आज इस लेख में हम 10 ऐसे खास पलों के बारे में जानेगे, जिन्होंने कोई भी इंडियन फैन्स भूलना नहीं चाहेगा.

i) सुनिल गावस्कर 10000 टेस्ट रन )1987)

भारत के पूर्व महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर टेस्ट क्रिकेट में 10000 रन पूरे करने वाले पहले बल्लेबाज थे. उन्होंने साल 1987 में अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ये कारनामा किया था.

; ii) कपिल देव 9/83 vs WI (1983)

कपिल देव ने अपने अन्तराष्ट्रीय करियर का सर्वोच्च गेंदबाजी प्रदर्शन इसी मैदान पर किया था. इस दिग्गज ने साल 1983 में वेस्टइंडीज के खिलाफ मोटेरा टेस्ट में 83 रन देकर 9 खिलाड़ियों को आउट किया था

.iii) कपिल देव सबसे अधिक टेस्ट विकेट (1994)

कपिल देव इस समय टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे. उन्होंने मोटेरा के मैदान पर साल 1994 में पूर्व दिग्गज रिचर्ड हेडली के 431 विकेट का रिकॉर्ड तोड़कर 432वीं विकेट ली थी.

iv) सचिन तेंदुलकर का पहला टेस्ट दोहरा शतक (1999)

सचिन तेंदुलकर ने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक अहमदाबाद के मोटेरा मैदान में बनाया था. उन्होंने साल 1999 में न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ 217 रनों की पारी खेली थी.

v) सचिन तेंदुलकर 18000वां वनडे रन (2011)

सचिन तेंदुलकर वनडे क्रिकेट में 18 हजार रन बनाने वाले दुनिया के अकेले बल्लेबाज हैं, उन्होंने साल 2011 में  मोटेरा के मैदान पर 18000वां रन बनाया था.

vi) अनिल कुंबले 100वां टेस्ट (2005)

भारत के पूर्व महान स्पिनर अनिल कुंबले टेस्ट और वनडे में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ मोटेरा के मैदान पर 100वां टेस्ट खेला था.

vii) हरभजन सिंह पहला टेस्ट शतक (2010)

भारत के पूर्व महान स्पिनर हरभजन सिंह ने अपने 103 टेस्ट के करियर में 400+ विकेट लेने के आलावा 2 शतक भी लगाए हैं हालाँकि उनके करियर का पहला शतक 2010 में मोटेरा के मैदान पर न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ ही आया था.

viii) वीरेंद्र सहवाग बतौर कप्तान पहला टेस्ट (2005)

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने साल 2005 में पहली बार भारत के लिए टेस्ट कप्तानी की थी. उनके करियर का ये खास क्षण भी अहमदाबाद के मोटेरा मैदान में ही आया था.

ix) ईशांत शर्मा 100वां टेस्ट (2021)

भारत के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा वर्तमान में टीम के सबसे अनुभवी पेसर हैं. इंग्लैंड के खिलाफ 24 फरवरी से शुरू खेले जाने टेस्ट में ईशांत 100वां खेलने की उपलब्धि हासिल करेंगे.

x) रविचंद्रन अश्विन 400वीं टेस्ट क्रिकेट

भारत के दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने अभी तक अपने टेस्ट करियर में 76 टेस्ट में 394 खिलाड़ियों को आउट किया हैं. मोटेरा के मैदान पर 6 विकेट लेने के साथ ही वह 400 टेस्ट विकेट लेने का कारनामा मोटेरा में करेंगे. अगर अश्विन तीसरे टेस्ट में 6 से कम विकेट भी लेते हैं तो चौथे टेस्ट में उनके पास इस उपलब्धि को पूरा करने का मौका होगा. क्योंकि सीरीज का चौथा मुकाबला भी मोटेरा में खेला जाएगा.

Back to top button