खेलजरा हट केदेश

अब महिला फुटबॉल खिलाड़ियों को तालिबान से डर !

अफगानिस्तान की महिला फुटबॉल खिलाड़ियों को काबुल से निकालकर कतर लाया गया। कतर सरकार ने यह जानकारी दी। इन महिला खिलाड़ियों को गुरुवार को फ्लाइट के जरिए दोहा लाया गया।

कब तक कतर में रहेंगे ये तय नहीं ?

इन खिलाड़ियों को अन्य यात्रियों के साथ एक कंपाउंड में लाया गया, जहां इनका कोरोना टेस्ट समेत अन्य जरूरी कार्रवाई होंगी। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि ये लोग कितने दिनों तक कतर में रहेंगे। अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के संघ, FIFPRO ने अगस्त में अफगानिस्तान महिला राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ियों को काबुल से बाहर आने में मदद की थी।

अगस्त में तालिबान ने किया कब्जा

अमेरिका ने 20 साल चले युद्ध के बाद अफगानिस्तान से अपनी सेनाओं को वापस बुलाने का ऐलान किया था। तालिबान के साथ हुए समझौते के तहत अमेरिका को 31 अगस्त तक अपनी सेनाओं को वापस बुलाना था, लेकिन इससे पहले 15 अगस्त को ही तालिबान ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जे का ऐलान कर दिया था। इसके बाद अफगानिस्तान में रह रहे अन्य देशों के नागरिक अपने देश लौट आए। उधर, अफगानिस्तान के हजारों नागरिकों ने भी अन्य देशों की शरण ले ली है। इसके बाद से महिला एथलीटों की सुरक्षा को लेकर चिंता व्यक्त की गई थी।

Back to top button