देश

अगर पाकिस्तान का करना है पक्का इलाज, तो पहले चीन के उमेठने होंगे ऐसे कान

हम भारतवासी एक हुए पाकिस्तान के खिलाफ। किन्तु हमें यही एकता पाकिस्तान को खुला समर्थन देकर उकसाने वाले देश चीन के खिलाफ भी दिखानी होगी। चीन, भारत के सबसे बड़े दुश्मन ‘मसूद अजहर’ को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंकी घोषित करने की भारत की मांग के बीच रोड़े अटका रहा है।

अब समय आ गया है कि हम सब भारतीय चीन को भी सबक सिखाएं। लेकिन इससे कहीं हमारे व्यापारी भाईयों को नुकसान तो नहीं उठाना पड़ेगा। इस समय सभी देशवासी चाइना द्वारा पाकिस्तान को मदद करने तथा जैश ए मोहम्मद के आतंकवादी मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय रूप से पाबंदी पर UN में रोड़ा लगाने से नाराज़ है। तथा चाइना से आयातित सामान का बहिष्कार करने की सलाह दे रहे है। मेरा यह मानना है कि भारत से अगर साल में एक रुपये का निर्यात चाइना को होता है तो चाइना से चार गुना यानी चार रुपये का आयात होता है।

पिछले वर्ष 2017 में दोनो देशों के बीच 84.44 बिल्यन डॉलर का व्यापार हुआ। जिसमें भारत से सिर्फ़ 16.34 बिल्यन डॉलर का निर्यात हुआ जबकि चाइना से 68.10 बिल्यन डॉलर का यानी चार गुना से भी ज़्यादा आयात हुआ। इस आयात के कारण ना जाने कितने ही छोटें उद्योग देश में बरबाद हो गये। तथा लाखों लोग बेरोज़गार हो गये।

अगर भारत की सरकार चाइना से पूरी तरह आयात पर प्रतिबंध लगा देवे या चाइना से आने वाले सामान पर अधिकतम कस्टम शुल्क लगा देवे तो चाइना की आर्थिक तोर पर कमर टूट जाएगी। यहाँ यह भी समझना बहुत ज़रूरी है इसके जवाब में चाइना भी ऐसा ही क़दम उठाएगा। ऐसे में हमारे निर्यात व निर्यातकों को नुक़सान उठाना पड़ सकता है। लेकिन हमें अगर एक रुपये का नुक़सान होगा तो चाइना को चार रुपये नुक़सान होगा। तथा जो उद्योग सस्ता माल चाइना से आने के कारण बरबाद हो गये वो वापस पनप जायेंगे। तथा लाखों युवाओं को रोज़गार मिलेगा। देश में बेरोज़गारी कम होगी व क़ीमती विदेशी मुद्रा भी बचेगी।

फिर देखते है चाइना कितने दिन हेकड़ी दिखता है। चाइना से ऐसा शायद ही कोई ऐसा सामान आता हो जिसके बिना देश की तरक़्क़ी रुक जाये। इससे भारत को चार फ़ायदे होंगे। पहला देशी उद्योग पनपेगे। दूसरा लाखों बेरोज़गार को काम मिलेगा। तीसरा क़ीमती विदेशी मुद्रा बचेगी। चौथा चाइना को बड़ा आर्थिक झटका लगेगा फिर देखते कि चाइना पाकिस्तान की कितने दिन मदद करता है।

वरिष्ठ पत्रकार भारत कविरत्न के फेसबुक पेज से साभार

Back to top button