उत्तर प्रदेश

अखिलेश ने फिर दागे ऐसे सवाल, जिनका भाजपा के पास नहीं कोई जवाब

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सपा -बसपा गठबंधन से पूर्व केंद्र की बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने बीजेपी को जनता को धोखे देकर वोट लेने में माहिर पार्टी बताया है। बीजेपी की असफलताओं को गिनाते हुए उन्होंने विशेष रूप से वादा खिलाफी, नोटबंदी और जीएसटी का ज़िक्र किया।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी करते वक्त बीजीपी ने कहा था कि इससे अमीरों को नुकसान और गरीबों को लाभ होगा, भ्रष्टाचार जड़ से खत्म हो जाएगा, आतंकवाद का खात्मा हो जाएगा। जनता ने बीजेपी का साथ दिया।लोग अपने पैसों के लिए कतारों मे लगे।मुसीबतें उठाई ।लेकिन फ़ायदा क्या हुआ।हकीकत जनता के सामने है। जीएसटी पर अखिलेश यादव ने कहा कि इसको लेकर बीजेपी द्वारा भ्रम फैलाया गया। बीजेपी की ओर से कहा गया कि इससे व्यापारी वर्ग को लाभ होगा ,व्यापार करना बहुत आसान होगा। मगर, नतीजा यह निकला कि जीएसटी ने व्यापारियों को परेशान कर दिया है।

यहाँ तक कि व्यापारियों ने आत्महत्या कर ली।हाल ही मे किये गये जीएसटी संशोधन पर अखिलेश यादव का कहना है कि यह आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान मे रखकर किया गया है।साथ ही उन्होंने आरोप लगाए कि बीजेपी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को ध्यान मे रखकर ही नोटबंदी की थी। अखिलेश यादव ने दावा किया है कि जनता का बीजेपी पर से भरोसा उठ गया है। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान मे बीजेपी हारी। कैराना उपचुनाव में भी बीजेपी की हार हुई। इसका मतलब साफ़ है कि जनता नाराज है और अब बीजेपी को सबक सिखाना चाहती है।

अखिलेश ने बीजेपी पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी से लोग यह जानना चाहते हैं कि कि अब प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, सांसद और विधायक आपके हैं ,फिर भी जनता को क्या मिला ?।किसानों का कर्जमाफी हुई ? क्या आगरा लखनऊ से बेहतर कोई सड़क बनाई गई ? कांग्रेस को साथ लेने पर अखिलेश ने कहा कि अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है।उनका कहना है कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है, लेकिन उत्तर प्रदेश मे गठबंधन में किस तरीके से साथ होगी, होगीया नहीं होगी , अभी इस पर कुछ कह पाना मुश्किल है

Back to top button