मदरसे पर मेहरबान हुई योगी सरकार, जारी किया 30 करोड़ का बजट

उत्तर प्रदेश के मदरसे पूरे देश में चर्चा का विषय बने हुए हैं. पिछल दिनों जहां मदरसे से कई मौलवियों को हिरासत में लिया था, वहीं इसके बाद योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के कई मदरसों की मान्यता को रद्द करार दे दिया था. वहीं, अब योगी सरकार द्वारा मदरसों के लिए एक महत्वपूर्ण खबर आई है. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार मदरसों पर मेहरबान है. यूपी सरकार ने मदरसों के लिए 30.53 करोड़ रुपए का बजट जारी किया है. यूपी सरकार ने ये बजट केंद्र सरकार की मदरसा शिक्षा आधुनिकीकरण योजना को लेकर जारी किया है. यह बजट मदरसे के हित को प्रत्यक्ष रूप से दर्शाता हैं.

मदरसों को योगी सरकार का बड़ा तोहफा

मदरसा शिक्षा आधुनिकीकरण योजना के तहत योगी सरकार ने 30.53 करोड़ रुपये का बजट जारी किया है. 1506 नए मदरसों के मद्देनजर यह बजट अहम माना जा रहा है. इससे पूर्व सरकार ने मदरसों को 30 करोड़ रुपए की पहली किस्त जारी की थी. इस तरह सरकार ने मदरसों के लिए दो किस्तों में 62 करोड़ रुपए से भी ज्यादा का बजट जारी कर दिया हैं.

हाल ही दिनों में शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड चेयरमैन वसीम रिजवी ने सूबे में चल रहे मदरसों को लेकर प्रधानमंत्री और यूपी के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था. यूपी सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने प्रधानमंत्री मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मदरसों को मुख्यधारा से जोड़ने की मांग की.शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड चेयरमैन ने कहा कि आज तक इन मदरसों ने देश को एक भी इंजीनियर या डॉक्टर नहीं पैदा किए हैं. कई मदरसों में आतंकी संगठन फंडिग कर रहे हैं. इसकी जांच होनी चाहिए.