योगी सरकार को RSS की फटकार, बोला- इन मंत्रियों की करो छुट्टी

लखनऊ. आगामी वर्ष लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, जिनपर सबकी नजरें हैं. प्रत्येक पार्टी बेहतर रणनीति और सरकारी योजनाओं का लाभ निचले स्तर तक पहुंचा कर चुनाव में जीत हासिल करने में लगी हुई है. इसी कड़ी में आरएसएस 2019 की लोकसभा चुनाव की जीत के लिए यूपी में निकाय चुनाव के परिणाम को पर्याप्त नहीं मानती है और मिशन 2019 के लिए प्लान यूपी तैयार कर रही है. संघ यूपी की जीत को लेकर गंभीर है और वह चाहती है कि 2019 में यूपी से 70 से 80 सीटें जीतें.

यूपी के इन मंत्रियों से नाराज है RSS

Advertisement

मंगलवार को आरएसएस और बीजेपी के बीच लखनऊ में समन्वय बैठक हुई. योगी सरकार बनने के बाद संघ के साथ ये तीसरी बैठक थी. देर रात तक चली समन्वय बैठक में संघ ने साफ तौर पर कह दिया है सरकार और पार्टी में मतभेद सही नहीं हैं. अधिकारियों की मनमानी सरकार के लिए उचित नहीं है. बैठक का बड़ा मुद्दा पार्टी संगठन और सरकार में होने वाले बदलावों को लेकर रहा, जिसमें संघ की ओर से बीजेपी संगठन और योगी सरकार दोनों को कई सुझाव दिए गए हैं.

advt

 

मंत्रिमंडल के विस्तार पर चर्चा

 

बैठक में संघ की तरफ से प्रदेश सरकार के मंत्रियों पर नाराजगी जाहिर की गई. साथ ही कैबिनेट और बीजेपी के संगठन के पुनर्गठन पर भी चर्चा हुई. उधर संघ की नाराजगी से बीजेपी और सरकार में खलबली मच गई है. समन्वय बैठक में आगामी मंत्रिमंडल और भाजपा संगठन के पुनर्गठन को लेकर भी चर्चा हुई.

कहा गया कि जो लोग बेहतर काम कर रहे हैं उन्हें पदोन्नति दी जाए और जो लोग अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर रहे हैं उन्हें कहीं और समायोजित किया जाए. ये भी इशारा किया गया कि विभागों में भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से गलत संदेश जाता है. इससे समझा जा सकता है कि आने वाले दिनों में होने वाले फेरबदल में कुछ मंत्री हटाए जा सकते हैं और कुछ नए चेहरों को शामिल किया जा सकता है.