पहले टेस्ट में ऋद्धिमान साहा ने बनाया ऐसा स्पेशल रिकॉर्ड

नई दिल्ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच केपटाउन में खेले जा रहे पहले टेस्ट का नतीजा चाहे जो निकले, लेकिन इस मैच ने भारतीय विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा का नाम हमेशा-हमेशा के लिए रिकॉर्ड बुक्स में दर्ज करा दिया है. दरअसल मैच के चौथे दिन जब भारतीय सीमरों ने दक्षिण अफ्रीकियों को सस्ते में सिमटाया, तो विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने भारतीय क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़ा कारनामा कर कर डाला.
दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीकी टीम 130 रन पर ही ढेर हो गई. इसमें विकेट के सामने गेंदबाजों और  विकेट के पीछे साहा का मिला-जुला योगदान रहा. पहली पारी में पांच कैच पकड़ने के बाद इस पारी में भी साहा ने पांच शिकार किए.
ऋद्धिमान साहा से पहले यह रिकॉर्ड पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नाम था. धोनी ने साल 2014-15 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान विकेट के पीछे नौ शिकार किए थे. लेकिन केपटाउन में साहा ने धोनी को पीछे छोड़ दिया. वो एक टेस्ट में विकेट के पीछे सबसे ज्यादा शिकार वाले भारतीय विकेटकीपर बन गए हैं.
साहा का ये रिकॉर्ड एक और बात की वजह से बेहद खास माना जा रहा है. दरअसल केपटाउन में साहा के विकेट के पीछे किए गए दस शिकारों की सबसे खास बात यह रही कि उन्होंने सभी शिकार कैच के रूप में किए. जाहिर है, अब आगे किसी भारतीय विकेटकीपर के लिए मैच में ग्यारह कैच लेकर साहा का रिकॉर्ड तोड़ना आसान काम नहीं होगा.