उत्तर प्रदेश

लोकसभा चुनाव : सुल्तानपुर में गाँधी VS गाँधी के बीच होगी चुनावी जंग

Image result for राहुल vs मेनका गांधी

आगामी लोक सभा चुनाव का आगाज़ हो चुका है. इस चुनाव में सियासी घमासान के बीच नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयानबाजी भी तेज हो गई है। सभी पार्टियों ने चुनाव के  के मद्देनजर पार्टियों का चुनावी अभियान जारी है. अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी दिग्गज उम्मीदवार अपने संसदीय क्षेत्रों का दिन-रात दौरा कर रहे हैं और अच्छा  माहौल बनाने की कोशिश में जुटे हैं.  इसी सब के बीच बताते चले  इस चुनाव में सभी पार्टियों के दिग्गज  नेता रैली, रोड शो, और पब्लिक मीटिंग और घर-घर जाकर लोगों से वोट मांग रहे हैं।.

इस बीच बताते चले

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस लोकसभा चुनाव में दो सीटों पर चुनाव लड़ने वाले है. राहुल अमेठी के साथ केरल की वायनाड से भी चुनावी मैदान में होंगे. राहुल गांधी के वायनाड सीट पर लड़ने के ऐलान से कई सवाल उठने लगे है. देखा जाए तो कांग्रेस दक्षिण भारत में मजबूत होना चाहती है. वाही आगे बताते चले यूपी के सुलतानपुर में सबकुछ योजना के मुताबिक चल रहा था। तभी पिछले महीने मेनका गांधी ने अपनी सुरक्षित सीट पीलभीत को अपने बेटे वरुण गांधी को दे दिया और खुद उनकी सीट सुलतानपुर से चुनाव लड़ने आ गईं। मेनका के इस चुनावी दांव के बाद ऐसी अटकलें तेज हो गई हैं कि क्‍या कांग्रेस नेतृत्‍व मेनका गांधी के खिलाफ चुनाव प्रचार करेगा?

बीजेपी में होने के बाद भी वरुण गांधी का अपने चचेरे भाई-बहन (राहुल गांधी-प्रियंका) और ‘ताईजी’ (सोनिया गांधी) से अच्‍छा संबंध रहा है। हालांकि मेनका गांधी के साथ ऐसा नहीं है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में गांधी परिवार ने पूरे यूपी का दौरा किया था लेकिन सुलतानपुर में चुनाव प्रचार नहीं किया था जहां से वरुण गांधी चुनाव लड़ रहे थे।

मेनका ने राहुल के पीएम बनने की संभावनाओं को खारिज दिया 
उधर, मेनका के साथ ऐसा कुछ नहीं है और उन्‍होंने हाल ही में कहा था कि यदि बीजेपी नेतृत्‍व कहेगा तो वह अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगी। मेनका ने राहुल गांधी के पीएम बनने की संभावनाओं को भी खारिज कर दिया था। कांग्रेस के एक वरिष्‍ठ चुनाव प्रबंधक के मुताबिक न तो प्रियंका और न ही राहुल गांधी ने सुलतानपुर में अपने प्रत्‍याशी संजय सिंह के पक्ष में चुनाव प्रचार की योजना बनाई है।

कांग्रेस पदाधिकारी ने कहा, ‘हम कोई भी पहला कदम नहीं उठाएंगे।’ कांग्रेस का मानना है कि बीजेपी नेतृत्‍व मेनका से अमेठी में चुनाव प्रचार कराना चाहता है, इसलिए उन्‍होंने ऐसा बयान दिया है। लेकिन हो सकता है कि वह बहुत ज्‍यादा प्रचार न करें। सुलतानपुर में 12 मई को चुनाव होना है। बता दें कि रायबरेली, अमेठी और सुलतानपुर गांधी परिवार का गढ़ रहा है।

Back to top button