जरा हट के

विधवा ने दोस्त की बातों में आकर की दूसरी शादी, फिर हुआ ऐसा हाल, जान कर यकीन न होगा

धोखाधड़ी के जमाने में आए दिन कोई ना कोई ऐसा अपराध कर ही देते हैं कि इंसानियत को शर्मसार होना पड़ता है। देश दुनिया में कोई ना कोई ऐसी घटना होती ही रहती है क्या कोई ऐसा कुकर्म इंसानों द्वारा किया जाता है कि उसे सुनकर भी लोगों को सबक नहीं मिलता है तब भी ऐसे ही को कम करते रहते हैं। ऐसी ही एक शर्मनाक घटना हमारे सूत्रों के सामने आई जब उन्हें पता चला कि एक औरत ने दूसरी औरत को ही धोखा दे डाला। जब एक औरत ने दूसरी औरत को एक गलत आदमी के हाथों बेच डाला तो इस घटना ने इंसानियत को भी शर्मसार कर डाला। यह पूरी घटना हरिद्वार की है। जहां पर एक हरियाणा के रहने वाली लड़की ने एक मजदूर और अबला महिला जिसका 4 साल का बेटा था उसको एक गलत आदमी के हाथों बेच डाला। आइए जानते हैं पूरी घटना आखिर क्या है-

संगीता (बदला हुआ नाम) जो यूपी, साहरनपुर के देवबंद थाना क्षेत्र की रहने वाली थी। संगीता के पति की मृत्यु डेढ़ वर्ष पहले हो चुकी थी एक बीमारी के चलते वह भगवान को प्यारे हो गए थे उन दोनों का एक 4 साल का बेटा भी था। सुनीता के ससुराल वाले ने बेटे की मौत का कारण संगीता को बताया और उसे और उसके बेटे को घर से निकाल दिया जिसके बाद वह दुखी होकर हरिद्वार आ गई और वहां रहकर एक कंपनी में नौकरी करने लगी।

वहां पर उसकी मुलाकात सपना (बदला हुआ नाम) से हुई। जो हरियाणा की रहने वाली हैं उसने संगीता के साथ अच्छी दोस्ती कर ली। बाद में उसने उसकी अकेलेपन का हवाला देकर उसे अपने एक जान पहचान के पुलिस में तैनात अफसर से शादी करने के लिए राजी होने को कहा। वह काफी दिनों तक उसके पीछे लगी रही और आखिरकार संगीता से शादी के लिए हां करवा ही ली।

शादी के लिए राजी होने के बाद बीती 26 जुलाई को सपना ने संगीता और हरियाणा के भिवाडी़ निवासी किशोर कुमार(बदला हुआ नाम)  के साथ भिवाड़ी के मंदिर में शादी करवा दी। जिसके बाद किशोर ने उसे अपने यहां से ले लिया और बहला-फुसलाकर उसे अपने 4 साल के बेटे को हरिद्वार में ही छोड़ देने की बात कही। बहुत बार कहने के बाद वह मान तो गई लेकिन उसके दिल में यही बात रही के बेटे का क्या होगा।

किशोर कुमार संगीता को बहला-फुसलाकर अपने भिवाड़ी के मकान में लेकर चला गया जहां पर 4 दिन तक लगातार उसके साथ दुर्व्यवहार करता रहा। संगीता के कहने पर भी वह उसके बच्चे को वहां पर लाने के लिए राजी नहीं हुआ। बड़ी मशक्कत के बाद संगीता को यह पता चला कि वह एक होमगार्ड है ना कि कोई तैनात पुलिस अफसर। और उसे यह बात भी पता चले कि सपना ने संगीता को उस आदमी के पास डेढ़ लाख रुपए में बेच दिया था। यह बात पता लगते ही संगीता बहुत परेशान हो गई और मौका मिलते ही वहां से भागकर हरिद्वार पहुंच गयी।

हरिद्वार पहुंचकर उसने रानीपुर पुलिस थाने में अपनी शिकायत दर्ज करानी चाहिए लेकिन पुलिस ने यह घरेलू मामला कहकर उसे जबरन उसके पति के साथ वापस भेज दिया। इसी दौरान पीड़ित महिला रुड़की निवासी भाजपा नेता राखीचन्द्रा के अधिवक्ता के संपर्क में आई और उसे अपनी पूरी आपबीती सुनाई जिसके बाद उन्होंने तुरंत एक्शन लेते हुए रानीपुर पुलिस थाने में कार्यरत अफसर की खबर ली और शिकायत दर्ज कर मामले की जांच करने के लिए भी कहा।

Back to top button