Breaking News
Home / जिंदगी / जरा हट के / शादी के बाद ही दूल्हे ने घर से भगा दी दुल्हन, वजह जान आपको भी नहीं होगा यकीन

शादी के बाद ही दूल्हे ने घर से भगा दी दुल्हन, वजह जान आपको भी नहीं होगा यकीन

जैसे ही किसी लड़के या लड़की की शादी होती है तो बात की जाए, लड़की की सपनों की तो लड़की शादी को लेकर बहुत तरह के सपने संजोती है और हर वह रस्मों रिवाज में उत्साहित रहती है। जो शादी के दौरान उसे पूरे करवाए जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ एक जोड़े के साथ, लड़की की रात में शादी हुई और शादी के बाद विदाई करके वह अपने ससुराल पहुंची। ससुराल पहुंचने पर उसकी सास ने उस की आरती उतारकर उसके ससुराल में स्वागत किया। उसके बाद में उनके मुंह दिखाई की गई और जब वह मुंह दिखाई हुई तो उन महिलाओं में से किसी एक महिला की नजर दुल्हन के सर पर गई और जैसे ही उसने सिर पर देखा तो उसने कानों में कानाफूसी शुरू कर दी। और धीरे-धीरे बात यह फैल गई कि लड़की के सर पर जख्म है और उसके सिर पर बाल नहीं है।

जैसे ही यह बात दूल्हे के कान तक गई तो दूल्हे ने तुरंत लड़की के मायके फोन किया और कहा कि आप तुरंत आओ और अपनी बेटी को वापस घर ले जाओ। मैं इस लड़की को नहीं रख सकता। जैसे ही समय बीतता गया और दुल्हन के मायके से कोई नहीं आया तो दूल्हे ने दुल्हन को घर से बाहर निकाल दिया।
जब दुल्हन को घर से निकाल दिया गया तो वह रोती हुई बस स्टैंड पहुंची और बस स्टैंड पर उसका बहनोई उसे लेने आया था। जैसे ही उसने अपने बहनोई को देखा तो वह जोर जोर से रोना शुरु कर दी और उसे रोता देख वहां के आस-पास के गांव के लोग इकट्ठा हो गए।

 

वहां पर एकत्रित लोगों ने जब पूरी बात जानी तो उसे अपने ससुराल वालों को लेकर अपना गुस्सा दिखाया। और जब यह बात लड़की के ससुराल वालों को पता चली, तो दूल्हा और उसका पिता दोनों दुल्हन को वापस लेने आए। उन्हें लगा कि अगर अभी हमने कुछ किया, तो मामला बिगड़ सकता है इसलिए वह दुल्हन को वापस ले गए।

कुछ दिनों के बाद लड़की के मायके वालों को भी बुलाया गया और लड़की के ससुराल वाले दोनों संबंधी आपस में गले मिले और एक दूसरे को वादा किया कि हम किसी भी प्रकार से लड़की को ससुराल में दुख नहीं होने देंगे। उसे किसी भी तरह की तकलीफ ससुराल में नहीं होगी। इस तरह का वादा करते हुए लड़की को ससुराल वापस लाया गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com