Breaking News
Home / धर्म / जिसने भी किया इन मंत्रो का जाप, जिंदगी भर नहीं देखना पड़ेगा गरीबी का मुंह

जिसने भी किया इन मंत्रो का जाप, जिंदगी भर नहीं देखना पड़ेगा गरीबी का मुंह

Image result for मंत्र का जाप

इस एक उपाय करने से पूरी दुनिया आपकी मुट्ठी में होगी… हिंदू धर्म में हजारों तरह की साधनाओं का वर्णन मिलता है. साधना से सिद्धियां प्राप्त होती हैं. व्यक्ति सिद्धियां इसलिए प्राप्त करना चाहता है, क्योंकि या तो वह उससे सांसारिक लाभ प्राप्त करना चाहता है या फिर आध्यात्मिक लाभ. दोस्तों क्या आप चाहते हैं की हर कोई आपकी बात माने ? क्या आप अपने आस पास लोगों पर अपना रोआब बनाना चाहते हैं ?

क्या आप चाहते है की आपको देखकर सभी आकर्षित हो ? क्या आप सबके दिलों में अपने लिए जगह बनाना चाहते हैं ? दरअसल आज हम ऐसा मंत्र लेकर आये हैं जो आपके बेहद काम आ सकती है. तो इस मन्त्र को इस्तेमाल करें और बनाएं सबके दिलों में अपने लिए ख़ास जगह.

इस उपाये को करने के लिए जरुरी सामग्री :- एक मुट्ठी नमक, चन्दन, सफ़ेद मोमबत्ती, सफ़ेद कपड़ा, एक सुपारी.

इस उपाये को करने का तरीका :- अपना मुंह दक्षिण की तरफ करके जमीन पर बैठ जाएं. सफ़ेद कपड़े के ऊपर एक मुट्ठी नमक रख दें, फिर उसके पास सफ़ेद मोमबत्ती जला लें, अब अपने माथे पर और सफ़ेद कपडे पर चन्दन से तिलक करें. अब एक सुपारी को अपने हाथो में पकड़कर नीचे दिए गए मन्त्र को 131 बार पढ़ें. मन्त्र : ओम नमो भगवते कामदेवाय यस्य दर्शयो भवामि यस्य यस्य मम् मुखम् पश्यति तं तं मोहयति स्वाहा

अब सुपारी को नमक के ऊपर रख दें, यह उपाये आपने 11 दिनों तक उसी नमक और सुपारी के ऊपर करना है और 11 वें दिन सुपारी को नमक के ऊपर रखकर सफ़ेद कपडे में लपेट लें, फिर उसे किसी नदी या झील में बहा दें. बहुत जल्द सभी लोग आपकी तरफ आकर्षित होने लगेंगे.

इस उपाये को करने के लिए जरुरी जानकारी : –

इस उपाये को बुधवार के दिन शुरू करें. 11 दिनों तक उसी नमक और सुपारी पर मन्त्र पढ़ना है, लड़कियां अपने माहवारी के दिनों में इस उपाये का इस्तेमाल न करें. पूरी जागरूकता के साथ किसी मंत्र को बार-बार दुहराना दुनिया के अधिकतर आध्यात्मिक मार्गों की शुरुआती साधना रही है.अधिकतर लोग मंत्र का इस्तेमाल किए बिना अपने भीतर ऊर्जा के सही स्तर तक ऊपर उठने में असमर्थ होते हैं.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com