देश

जब थर्रा उठा हिमाचल, वीडियो में कैद हो गया मौत का मंजर!

भाखड़ा डैम के चारों फ्लड गेट खोल दिए गए

हिमाचल प्रदेश के जलग्रहण क्षेत्रों में हो रही बारिश के मद्देनजर बड़ी नदियां सतलुज ,ब्यास और रावी नदियाें के उफान पर होने के कारण पंजाब के जिन जिलों से ये नदियां गुजरती हैं, उनमें प्रशासन को किसी भी परिस्थिति में सतर्क रहने को कहा गया है । मौसम विभाग ने प्रशासन को सतर्क किया है कि अगले चौबीस घंटों के दौरान भारी वर्षा हो सकती है जिससे इन नदियों में बाढ़ की संभावना हो सकती है । इन जिलों में अलर्ट जारी किया गया है । ये नदियां अमृतसर , तरनतारन , गुरदासपुर , कपूरथला , फिरोजपुर ,होशियारपुर तथा लुधियाना जिले से होकर गुजरती हैं ।

मौसम विभाग ने अगले दो दिन राज्य के 10 जिलों में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। यह अलर्ट हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना, कांगड़ा, शिमला, सोलन, मंडी, सिरमौर, चंबा और कुल्लू के लिए है।मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि 17 व 18 अगस्त को इन जिलों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा का अनुमान है। इस अवधि में कुछ स्थानों पर 115 मिलीमीटर से अधिक वर्षा हो सकती है। इस बीच लगातार हो रही वर्षा से राज्य की नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी हो रही है और प्रशासन ने लोगों को इनके किनारे न जाने की हिदायत दी है। वर्षा से राज्य में जगह-जगह हो रहे भूस्खलन के कारण 141 सड़कें अवरूद्व हो गई हैं।

लोकनिर्माण विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक सबसे अधिक 75 सड़कें मंडी जोन में बंद हैं। इसी तरह शिमला जोन में 42, कांगड़ा जोन में 20 और मंडी जोन में 4 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप्प है। सड़कों की बहाली के लिए विभाग द्वारा 241 जेसीबी, टिप्पर और डोजर लगाए गए हैं। मानसून सीजन में भूस्खलन से सड़कों को 279 करोड़ की क्षति पहुंची है।

इस बीच बटारते चले हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के उपमंडल गोहर में शुक्रवार को भूस्‍खलन होने से पहाड़ी दरक गई। पहाड़ी से भारी मलबा सड़क पर आ गया। गनीमत रही कि इस वक्‍त सड़क पर कोई राहगीर या वाहन नहीं थी अन्‍यथा बड़ा हादसा हो सकता था। लोगों ने पहले ही सड़क पर दोनों तरफ से यातायात रोक दी थी। मौके पर मौजूद लोगों ने इस भयंकर मंजर का वीडियो बना लिया जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

हिमाचल में बारिश का कहर जारी

हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश ने कहर बरपा दिया है। कांगड़ा और चंबा जिलों में उपायुक्त ने स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है। चंबा जिले में भरमौर-पठानकोट नेशनल हाईवे जगह-जगह भूस्खलन होने से बाधित हो गया है। बारिश से जिले के नदी नाले उफान पर हैं। जिला प्रशासन की ओर से भी अलर्ट जारी होने के बाद शनिवार को स्कूलों में होने वाली परीक्षा रद्द कर दी गई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने आज छह जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के साथ रेड अलर्ट जारी किया है। आज और कल पूरे प्रदेश में भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है।

Back to top button