गमछे की बहादुरी की कहानी, ट्विटर पर सहवाग की जुबानी

 

पूर्व इंडियन क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने एक गमछे और एक ट्रेन की तस्वीर ट्वीटर पर ट्वीट की है और बहादुरी की एक कहानी बयां की है. भारत के पूर्व बल्लेबाज ने बताया है कि कैसे कुछ लोगों ने एक लाल रंग के गमछे का इस्तेमाल कर एक राजधानी एक्सप्रेस को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा लिया.

ट्वीट कर बताया कैसे बचाई जन 

मामला किस जगह का है, यह वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट में नहीं बताया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा – ”सच्चे हीरो बिमल कुमार और उनके दोस्त सुबोध यादव, बबलू राम, और कुछ गांववालों ने रेलवे ट्रैक में दरार देखकर तेज रफ्तार आ रही राजधानी को पास के एक घर से लाल गमछा दिखाया और संभावित दुर्घटना से बचने में मदद की. उनकी सतर्कता के लिए उन्हें यश मिले.

गमछा रॉक्स का लगाया  हैशटैग

इसी के साथ सहवाग ने पोस्ट में गमछा रॉक्स का हैशटैग भी लगाया. दरअसल मामला शुक्रवार (9 मार्च) की सुबह का है. नई दिल्ली से गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ के लिए चलने वाली डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस को गांव वालों ने गमछा दिखाकर दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाया. सन्यास लेने के बाद वीरेंदर सहवाग सोशल नेटवर्किंग साइड्स पर काफी एक्टिव रहते हैं. कभी कभी तो अपने पोस्ट को ले कर ट्रोल भी हो जाते हैं.