Breaking News
Home / खेल / “विराट” ने 3 देशों के खिलाफ बनाया ये शानदार रिकॉर्ड, पीछे छूटे “क्रिकेट के भगवान “

“विराट” ने 3 देशों के खिलाफ बनाया ये शानदार रिकॉर्ड, पीछे छूटे “क्रिकेट के भगवान “

मियांदाद और गांगुली को पीछे छोड़ा-

भारतीय क्रिकेट टीम ने तीन एकदिनी मैचों की श्रृंखला के दूसरे मैच में वेस्टइंडीज को 59 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ ही भारत ने श्रृंखला में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।  भारत ने मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान विराट कोहली (120) और श्रेयस अय्यर (71) की पारियों की बदौलत 279 रन बनाये।  वेस्टइंडीज की पारी के बीच में बारिश हो गई, जिसके बाद वेस्टइंडीज को जीत के लिए 46 ओवर में 270 रन का संशोधित लक्ष्य मिला। मेजबान टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए 42 ओवर में 210 रन बनाकर ढेर हो गई।

इस बीच बताते चले  कोहली के नाम इस सीरीज में कई आंकड़ें शानदार रिकॉर्ड में तब्दील होने के लिए बेकरार थे और इस सीरीज के दूसरे मैच में ही कोहली ने वनडे करियर का 42वां शतक ठोककर कई रिकॉर्ड अपने नाम कर डाले। इस एक शतक से कोहली ने कई रिकॉर्ड धवस्त किए। कोहली ने इस कड़ी में एक ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया, जो आजतक कोई बल्लेबाज नहीं कर पाया.

दरअसल, विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल में 8वां शतक ठोक दिया. इसी के साथ ही विराट 3 देशों के खिलाफ 8 या उससे ज्यादा वनडे शतक जड़ने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं. विराट कोहली के अलावा भारत के पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने दो देशों के खिलाफ 8 या उससे ज्यादा शतक लगाए हैं. वनडे इंटरनेशनल में सचिन तेंदुलकर श्रीलंका के खिलाफ 8 और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 9 शतक लगा चुके हैं.

मियांदाद और गांगुली को पीछे छोड़ा-

कोहली ने इस मैच में 125 गेंदों पर 120 रनों की पारी खेली, जिसमें 14 चौके और 1 छक्का शामिल था। सबसे पहले तो कोहली ने अपने पारी की शुरुआत में ही जावेद मियांदाद का बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया। मियांदाद ने विंडीज के खिलाफ 1930 ODI रन बनाए थे जो अब तक किसी भी बल्लेबाज द्वारा विंडीज के खिलाफ बनाए सबसे ज्यादा रन थे। कोहली ने यह रिकॉर्ड आसानी से तोड़ दिया। इसके साथ ही कोहली ने अपने हमवतन दिग्गज गांगुली के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया है। कोहली इस मैच से पहले सौरव गांगुली के कुल ODI रनों से केवल 77 रन दूर खड़े थे। गांगुली ने ODI करियर में 11,363 रन बनाए थे जिसको कोहली ने अब पार कर लिया है।

रोहित और पोंटिंग को भी किया पीछे-

इसके अलावा कोहली ने रोहित शर्मा को भी पछाड़ दिया है। अब कोहली दुनिया के ऐसे बल्लेबाज बन गए हैं जिसने किसी एक टीम के खिलाफ दो हजार ODI रन बनाने के लिए सबसे कम पारियां खेली हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड रोहित शर्मा के नाम था जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ केवल 37 पारियों में 2,000 रन बनाए थे। लेकिन कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ केवल 34 पारियों में ये रिकॉर्ड बना दिया है। कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ बतौर कप्तान 6 ODI शतक लगा दिए हैं जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी कप्तान द्वारा किसी एक टीम के खिलाफ लगाए सबसे ज्यादा शतक हैं। यह रिकॉर्ड रिकी पोंटिंग के नाम था। पोंटिंग ने कीवियों के खिलाफ टीम का नेतृत्व करते हुए सर्वाधिक 5 शतक लगाए थे जिसको कोहली ने अब तोड़ दिया है।

बताते चले लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज की शुरुआत धीमी रही। नौवें ओवर में 45 रन के कुल स्कोर पर क्रिस गेल 11 के व्यक्तिगत स्कोर पर भुवनेश्वर का शिकार बने। गेल के बाद शाई होप सिर्फ छह रन बनाकर खलील अहमद का शिकार हो गए। दूसरे ओपनर एविन लुइस (65) ने पहले शिमरोन हेटमायर (18) के साथ तीसरे विकेट के लिए 40 रन की साझेदारी की।

इसके बाद उन्होंने निकोलस पूरन (42) के साथ 56 रन की साझेदारी की। इन दोनों साझेदारियों को कुलदीप यादव ने तोड़ा। हेटमायर 92 और लुइस 148 के टीम स्कोर पर आउट हुए। लुइस ने 80 गेंदों पर आठ चौके एक छक्के की मदद से 65 रन बनाए। भुवनेश्वर कुमार ने पूरन को 179 के कुल स्कोर पर आउट किया इसके बाद भुवनेश्वर ने इसी स्कोर पर रोस्टन चेज (18) को पैवेलियन भेज विंडीज की हार तय कर दी। एक रन बाद रवींद्र जडेजा ने कार्लोस ब्रैथवेट (0) को भी पैवेलियन भेज दिया। 182 के कुल स्कोर पर भुवनेश्वर ने केमार रोच को आउट कर मेजबान टीम का आठवां झटका दे दिया।

मोहम्मद शमी ने शेल्डन कॉट्रेल (17) और ओशाने थॉमस (0) को आउट कर भारत को जीत दिलाई। कप्तान जेसन होल्डर 13 रन बनाकर नाबाद लौटे। भारत की तरफ से भुवनेश्वर ने चार ,कुलदीप व शमी को दो-दो और खलील व जडेजा को एक-एक विकेट मिला।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (2) पहले ही ओवर में आउट हो गए। इसके बाद कोहली ने रोहित शर्मा (18) के साथ दूसरे विकेट के लिए 74 रन की साझेदारी की। रोहित 34 गेंद पर 18 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद रिषभ पंत (20) भी 101 के कुल स्कोर पर चलते बने। पंत के आउट होने के बाद कोहली और श्रेयस अय्यर ने चौथे विकेट के लिए 125 रन की साझेदारी कर टीम को 200 के पार पहुंचाया।

कोहली 226 के कुल स्कोर पर 125 गेंदों पर 120 रन बनाकर आउट हुए। इस दौरान उन्होंने 14 चौके और एक छक्का लगाया। कोहली का वेस्टइंडीज के खिलाफ यह आठवां शतक है। इसके अलावा बतौर कप्तान उनका यह 20वां और उनके एकदिनी करियर का 42वां शतक है। वे अब सचिन के 49 शतकों के रिकॉर्ड से सिर्फ सात शतक दूर हैं।

कोहली के आउट होने के बाद बारिश के कारण खेल को कुछ समय के लिए रोक दिया गया। खेल जब दोबारा शुरू हुआ तो फिर अय्यर, होल्डर का शिकार बन बैठे। उन्होंने 68 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाया तथा अपने करियर का तीसरा अर्धशतक पूरा किया। केदार जाधव और जडेजा ने 16-16 रन बनाए।

भुवनेश्वर ने एक और शमी ने नाबाद तीन रन बनाए। वेस्टइंडीज की ओर से कार्लोस ब्रैथवेट ने सर्वाधिक तीन और कॉट्रेल, चेज तथा होल्डर ने एक-एक विकेट लिया।

भारत की जीत के ‘मैन ऑफ द मैच’

वहीं, एक बल्लेबाज के तौर पर कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 8वां ODI लगाया है। किसी एक टीम के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम हैं जिन्होंने श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्रमश 8 और 9 शतक लगाए हैं। कोहली कैरेबियाई सीरीज के अगले मैच में शतक लगाकर मास्टर ब्लास्टर के इस रिकॉर्ड की बराबरी कर सकते हैं। आपको बता दें कि भारत ने यह मैच 59 रनों (D/L नियम) से अपने नाम किया और विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com