देश

VIDEO : नेताओं के लिए बाढ़ है पिकनिक का मौका, देखिए मंत्रीजी की ये सेल्फीबाजी

Minister Girish Mahajan taking selfie during flood in maharashtra roll on social media | बाढ़ के बीच हंसते हुए सेल्फी लेते नजर आएं बीजेपी के मंत्री गिरीश महाजन, सोशल मीडिया पर लोगों ने लगाई क्लास

महाराष्ट्र के कोल्हापुर, सांगली, सातारा और गढ़चिरोली सहित कई जिले बीते पांच दिनों से बाढ़ की चपेट में हैं। इन जिलों के 23 गांवों में बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है। अरबों रुपये का कारोबार ठप हो गया है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रशासन को सतर्क रहने और बाढ़ पीडि़तों को स्थानीय स्तर पर हर तरह की मदद पहुंचाने का आदेश दिया है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि महाराष्ट्र में बाढ़ की जानकारी प्रधानमंत्री को दे दिया गया है। प्रधानमंत्री ने राज्य में हर तरह की मदद का आश्वासन दिया है। कर्नाटक में आलमत्ती डैम से पानी छोड़े जाने से बाढ़ के पानी का स्तर घटने लगा है, लेकिन यहां लगातार बारिश हो रही है, जिससे राहत और बचाव कार्य में अड़चनें आ रही हैं। पुणे मौसम विभाग ने यहां दो दिन तक और तेज बारिश की चेतावनी दी है।

इस बीच बताते चले महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन बाढ़ प्रभावित जिले सांगली का दौरा करने निकले थे। लेकिन वह एनडीआरएफ की नाव में सवार होकर सेल्फी लेते हुए दिखे. न्यूज एजेंसी एएनआई की ओर से जारी वीडियो में देखा जा सकता है कि विधायक महाजन एनडीआरएफ की नाव पर सवार हैं। इस दौरान वह मुस्कुरा रहे हैं और मोबाइल से सेल्फी ले रहे हैं। गिरीश महाजन की दो सेल्फी वीडियो क्लिप सामने आने के बाद विवादों में घिर गए, जिनमें कथित रूप से वह बाढ़ग्रस्त जिले के कुछ हिस्सों के सर्वेक्षण के दौरान मुस्कुराते और खुशी से हाथ हिलाते दिख रहे हैं।

इन वीडियो के सामने आने के बाद विपक्षी राकांपा ने महाजन की निंदा की है. राकांपा ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से सवाल किया कि क्या मंत्री ‘घूमने गए’ थे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को ‘असंवेदनशील’ जल संसाधन मंत्री से इस्तीफा देने को कहना चाहिए। एक क्लिप में महाजन के साथ एक अज्ञात व्यक्ति पश्चिमी महाराष्ट्र में कोल्हापुर में पानी के बीच सेल्फी वीडियो बनाता दिख रहा है।इस वीडियो में भाजपा के मंत्री मुस्कुराते और हाथ हिलाते हुए दिख रहे हैं।

बताते चले बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की 23 टुकड़ी, सेना, कोस्टगार्ड के जवान और दो हेलीकॉप्टर यहां राहत और बचाव कार्य कर रहे हैं। बाढ़ से अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है। एनडीआरएफ ने 01 लाख 34 हजार 363 लोगों और 30 हजार 693 जानवरों को सुरक्षित स्थल पर पहुंचाया है। अब भी यहां दूरदराज गांवों में दो लाख से अधिक लोग फंसे हुए हैं। बाढ़ में लाखों घर गिरने और मवेशियों के बह जाने के साथ लगभग छह हजार हेक्टेयर कृषि क्षेत्र का नुकसान होने का प्राथमिक अनुमान है।

सांगली में भी स्थिति भयावह है। यहां खेत और लोगों के घरों में सिर्फ बाढ़ का पानी ही दिखाई दे रहा है। तिलक चौक और पश्चिम में सांगलीवाड़ी में पानी भरा हुआ है। सांगली अयुरविन पुल और कृष्णा का पिंजरा पर बाढ़ का पानी 5.7 फीट तक पहुंच गया है। सांगली जिले में एनडीआरएफ की प्रत्येक टीम में चार नावें और तीन जवान हैं, जबकि एसडीआरएफ के दस्ते में पाच नावें और तीन जवान तैनात हैं। इसके अलावा पांच नौकाएं महाबलेश्वर से और दो नाव करमाली से मंगाई गई हैं। लगभग 05 लाख 19 हजार से अधिक नागरिकों और पांच हजार से अधिक जानवरों का पुनर्वास किया गया है।

देखे विडियो

VIDEO  sources by MUMBAI tak 

Back to top button