VIDEO: नवाबों की नगरी में बहुत अच्छी पहल, लखनऊ को बनाया जाएगा पहला तंबाकू मुक्त शहर

लखनऊ: तम्बाकू उत्पादों के सेवन से बढती महामारी को लेकर सरकार और मीडिया से जुड़े लोगों ने लखनऊ में इस मुद्दे पर मथन किया है. तम्बाकू पदार्थों के सेवन से हो रही बीमारियों और मौतों में कमी लाने के साथ लगातार सेवन करने वालों की बढ़ी संख्या में कमी लाने पर भी चर्चा हुई. बता दें केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के बावजूद उत्तरप्रदेश में तम्बाकू सेवन करने वाले लोगो की संख्या बढ़ी हैं. इस कार्यक्रम का आयोजन विनोबा सेवा आश्रम के संस्थापक श्री रमेश भईया जी ने किया. जिनसे जनमन टीवी ने ख़ास बातचीत की

यहां देखें वीडियो 

हर रोज 5500 बच्चे हो रहें हैं नशे के आदी

हर रोज 5500 बच्चे तम्बाकू उत्पादों के सेवन का शिकार हो रहे हैं. इससे संक्रामक बीमारियों का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा हैं. अंतराष्ट्रीय संस्था गेट्स (WHO,TISS) की माने तो महिलाओं में भी इसका चलन काफी तेजी से बढ़ रहा हैं. जो चिंता का विषय हैं.

हर साल मरते हैं 38 लाख लोग

गैर संचारी रोग से (एनसीडी) से हर साल 38 लाख लोग मारे जा रहे हैं. WHO रिपोर्ट के अनुसार तम्बाकू के उपयोग करने वालो में  (एनसीडी) का खतरा ज्यादा होता हैं.और तम्बाकू सेवन करने वाले लगभग 12 लाख लोग हर साल मारे जा रहे हैं.

कार्यक्रम में तम्बाकू मुक्त लखनऊ की हुई बात

इस मौके पर विनोबा सेवा आश्रम के संस्थापक श्री रमेश भईया जी ने अपने संस्थान का परिचय देते हुए सभी लोगों का स्वागत करते हुए तम्बाकू मुक्त लखनऊ अभियान शुरू करने का कारण बताया. कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ट पत्रकार श्री रामदत त्रिपाठी जी की.

लखनऊ नगर निगम ने दिए कई निर्देश

बता दें अभियान के प्रयासो से प्रेरित होकर तम्बाकू मुक्त कानूनों के अनुपालन हेतु लखनऊ शहर को तम्बाकू मुक्त बनाने की ओर से लखनऊ नगर निगम ने कई निर्देश दिए.