सनबर्न की समस्या से हैं परेशान, तो सनस्क्रीम नहीं इन नेचुरल ऑयल का करें इस्तेमाल

गर्मी हो या सर्दी हर मौसम में आपकी त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए सनस्क्रीन लगाना बहुत जरुरी होता है. सनस्क्रीन में मौजूद एसपीएफ आपकी त्वचा की टैनिंग से रक्षा करता है. सनस्क्रीन बाजार में कई तरीके के मिलते हैं लेकिन उनमें और भी कई केमिकल्स होते हैं और साथ वे काफी महंगे भी होते हैं.

Advertisement

सनस्क्रीन हमारी त्वचा की रोजाना की जरुरत होती है. इसलिए हम आपको कुछ प्राकृतिक तेलों के बारे में बताने जा रहे हैं जो सनस्क्रीन की तरह ही आपकी त्वचा की सूर्य की हानिकारक किरणों से रक्षा करते हैं.

advt

 

सोयाबीन का तेल

सोयाबीन का तेल भारतीय घरों में आसानी से मिल जाता है. खाना बनाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है. इसमें एसपीएफ 10 प्राकृतिक रुप से मौजूद होता है, साथ ही यह सर्दियों के मौसम में एक अच्छा मॉइश्चराइजर भी है. इसका इस्तेमाल आप सनस्क्रीन की जगह कर सकते हैं.

नारियल का तेल

नारियल के तेल में प्राकृतिक रुप से एसपीएफ 4 होता है. इसलिए इसका इस्तेमाल सनस्क्रीन के रुप में आप त्वचा पर कर सकते हैं. यह त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए भी उपयोगी होता है. साथ ही त्वचा को पर्याप्त मॉइश्चर भी देता है.

ऑलिव ऑयल

खाने और त्वचा पर लगाने के लिए यह तेल काफी उपयोगी होता है. इस तेल में एसपीएफ 8 और एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. इसलिए यह सनस्क्रीन का अच्छा विकल्प होता है और त्वचा को टैनिंग से बचाता है.

गाजर के बीज का तेल

गाजर  के बीज तेल में एसपीएफ 38-40 होता है और साथ ही इसमें मौजूद विटामिन्स त्वचा की सूर्य की हानिकारक किरणों से रक्षा करते हैं और त्वचा को खूबसूरत भी बनाते हैं. गाजर के बीज का तेल एक प्रभावशाली सनस्क्रीन होता है.