उत्तर प्रदेश

उन्नाव रेप कांड : कड़ी सुरक्षा के बीच आज होगा पीड़िता की चाची और मौसी का अंतिम संस्कार

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की चाची का बुधवार को बालूघाट में अंतिम संस्कार किया जाएगा। बता दे हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के जस्टिस फैज अहमद ने पीड़ित के पीडिता के चाचा को एक दिन की शॉर्ट टर्म बेल दी है, जिससे वह अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार की रस्में कर सकें। बुधवार सुबह से शाम तक बेल पर रहने के बाद उन्हें फिर शाम में वापस रायबरेली जेल भेज दिया जायेगा। पीड़िता का चाचा को रायबरेली जेल से सीधे गंगाघाट पहुंचेगा। पीड़िता की चाची और मौसी का शव बुधवार सुबह करीब 11 बजे के करीब गंगाघाट पहुंचाया जाएगा. गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के बालूघाट में स्थित है. वहीं अंतिम संस्कार को लेकर उन्नाव में प्रशासन चौकन्ना हो गया है। अंतिम संस्कार और उस दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशासन ने पूरी तैयारी की हुई है। सभी थानों को अलर्ट रहने को कहा है।

लखनऊ में रखा गया है चाची-मौसी का शव 
उन्‍नाव रेप पीड़ि‍ता की चाची और मौसी के शव को अभी लखनऊ पोस्टमार्टम हाउस में ही रखा गया है। पुलिस दोनों शव को उन्नाव ले जाएगी, ऐसे में संबंधित क्षेत्र के सभी थानाध्‍यक्षों को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती उन्नाव रेप पीड़िता और उसके वकील जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। दोनों अभी भी वेंटीलेटर पर हैं और उनकी हालत गंभीर है।

रायबरेली दुर्घटना काण्ड जांच के लिए एसआईटी गठित 

लखनऊ। रायबरेली में उन्नाव दुराचार  पीडि़ता  दुघर्टना काण्ड के मामले में एसआईटी (विशेष जांच दल)गठित की गई है। आईजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि  प्रदेश सरकार ने सीबीआई जांच के लिए शिफारिस की है।  हालांकि जब तक सीबीआई को केस ट्रांसफर नहीं होता है तब तक केस  की जांच-पड़ताल के लिए एसआईटी टीम गठित की गई है। एसआईटी टीम में एएसपी शशि शेखर,सीओ लक्ष्मीकांत गौतम व इंस्पेक्टर आरपी सिंह शामिल हैं।

आईजी ने बताया कि एसआईटी की टीम सभी पहलुओं पर वैज्ञानिक परीक्षण करेगी। गौरतलब हो कि बीते रविवार को उन्नाव दुष्कर्म पीडि़ता रायबरेली अपने चाचा से मिलने चाची,मौसी व वकील के साथ जा रही थी। इसी दौरान ट्रक ने कार में टक्कर मार दी। इस हादसे में चाची व मौसी की मौत हो गई,जबकि पीडि़ता व वकील जिंदगी गंभीर रूप से घायल हो गये,जिनका इलाज लखनऊ ट्रामा सेंटर में चल रहा है,जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इस मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 नामजद समेत 15-20 अज्ञात के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।

Back to top button