राजनीति

ये 10 तथ्य पढ़िए और तय कीजिए, क्या किसी को इंसाफ मांगने की हिम्मत करनी चाहिए ?

कभी-कभी मन बहुत व्यथित हो जाता है..एक समाज के तौर पर खुद से..कानून से..भगवान के इंसाफ से भरोसा उठ जाता है..समाज के तौर पर हम ज्यादा असभ्य, बर्बर और खून के प्यासे होते जा रहे हैं..ये तो दिख ही रहा है..एक-आध अपवादों को छोड़ दिया जाए तो कानून..पैसे वालों की जेब में रहता है..ये भी पता था..लेकिन जब ये दिखने लगे कि भगवान के घर देर भी है और अंधेर भी है तो विश्वास डोलने लगता है..आज उन्नाव रेप विक्टिम वाली स्टोरी पर काम किया..अन्याय की भी इंतेहा होती है..सिर्फ तथ्य आपके सामने रखता हूं..फिर आप ही तय कीजिएगा कि क्या किसी को इंसाफ मांगने की हिम्मत करनी चाहिए..ये रहे तथ्य..

1- लड़की ने बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप लगाया
2- पुलिस ने FIR तक दर्ज करने से इनकार कर दिया..लड़की ने लखनऊ में योगी आदित्यनाथ के यहां आत्मदाह की कोशिश की तब FIR हुई..
3- लड़की के पिता को गिरफ्तार किया गया..जेल में इतना टॉर्चर किया कि अस्पताल में मौत हो गई
4- लड़की के पिता की पिटाई के चश्मदीद की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई
5- लड़की के चाचा जेल में हैं

6- लड़की की चाची और मौसी की ‘सड़क हादसे’ में मौत हो गई
7- लड़की और उनके वकील बहुत ही बुरी तरह घायल हैं..बचेंगे या नहीं पता नहीं..लड़की को इतने मल्टीपल फ्रेक्चर हैं कि बच भी जाएगी तो ज़िंदा लाश बन जाएगी
8- ना पिता रहे..चाचा जेल में..घर में एक भी मर्द नहीं रहा
9- जिन पुलिस वालों को लड़की की सुरक्षा के लिए लगाया था उन्हीं ने जासूस बनकर विधायक को खबर दी कि लड़की का परिवार रायबरेली गया है
10- आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कुछ ही दिन पहले उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज उनको थैंक्यू करने गए थे..

अब आप ही बताइये..अगर अब लड़की को इंसाफ मिल भी गया तो किस काम का वो इंसाफ..पिता मर गए..चाची मर गई..मौसी मर गई..चाचा जेल में..लड़की ज़िंदा लाश..सबसे बड़ी बात कुछ लोग अब भी इसे पार्टी भक्ति के नज़रिए से देख रहे हैं..कैसे नींद आ जाती है ऐसे लोगों को ? कैसे अपनी अंतरात्मा का सामना कर पाते होंगे ?

राम राज्य ज़िंदाबाद…मातृशक्ति ज़िंदाबाद..कानून का राज ज़िंदाबाद..विश्व गुरु भारत ज़िंदाबाद

ये लेख पत्रकार दीपक जोशी के फेसबुक पेज से साभार लिया गया है। ये लेखक के निजी विचार हैं।

Back to top button