नोट बंदी के 2 साल पूरे होने पर मनमोहन सिंह ने ये क्या कहा ?

95

नोटबंदी के दो साल, कांग्रेस का सरकार पर हमला

नयी दिल्ली. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने ‘नोटबंदी’ के दो साल पूरे होने के मौके पर मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर हमला करते हुये आज कहा कि सरकार को भारतीय अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता और निश्चितिता सुनिश्चित करनी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो साल पहले आठ नवंबर को रात में आठ बजे ‘नोटबंदी’ की घोषणा करते हुए उस वक्त प्रचलित 500 और 1,000 के नोट को अवैध कर दिया था। श्री सिंह ने ‘नोटबंदी’ को दुर्भाग्यपूर्ण और बिना सोचे-विचारे लागू करने वाली योजना करार देते हुए कहा कि इससे हर व्यक्ति का जीवन प्रभावित हुआ, चाहे वह किसी उम्र, लिंग, धर्म ,जाति और व्यवसाय से संबंधित हो।

Loading...
Copy

उन्होंने सरकार को आगाह करते हुए कहा कि उसे ऐसे कदम नहीं उठाने चाहिए जिससे अर्थव्यवस्था और वित्तीय बाजार में कोई और अनिश्चितता उत्पन्न हो। डॉ सिंह ने कहा,“ आज मोदी सरकार द्वारा वर्ष 2016 में की गयी नोटबंदी की घोषणा के दो साल पूरे हो गये। इससे भारतीय अर्थव्यवस्था और समाज में जो तबाही मची, वह सबको दिखाई दे रही है। नोटबंदी ने हर व्यक्ति को प्रभावित किया। मैं सरकार से आग्रह करता हूं कि वह आर्थिक नीतियों में स्पष्टतता और निश्चितता रखे। आज का दिन यह याद करने के लिए है कि किस तरह गलत आर्थिक नीतियों से पूरा देश लंबे समय तक प्रभावित हो सकता है। यह दिन यह भी समझाता है कि आर्थिक नीतियों का निर्माण अच्छी तरह से विचार के बाद करना चाहिए।”

Loading...

Loading...