ख़बरदेश

दक्षिण के दो दिग्गज कांग्रेसियों को दिया गया अध्यक्ष बनने का ऑफर, दोनों ठुकरा दिए

ak antony and kc venugopal declines congress president post | दो वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष पद का ऑफर ठुकराया, उत्तर भारत से चेहरे की तलाश शुरू

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस को बड़ी मुसीबतों  का सामना करना पड़ा है। कांग्रेस पार्टी पर संकटों के काले बादल छाए हुए है । इसी बीच  एक बड़ी खबर ये भी आ रही है की पूर्व रक्षामंत्री ए.के. एंटनी और पार्टी के महासचिव के.सी. वेणुगोपाल ने पार्टी अध्यक्ष पद का ग्रहण करने से इनकार कर दिया है। मीडिया की मिली जानकारी के अनुसारएंटनी ने पद को ये कह कर लेने से मना कर दिया कि उनका कमजोर स्वास्थ्य इसके लिए अलाऊ नहीं करता है इसी कारण से यह जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया है। वहीं, वेणुगोपाल ने पार्टी को मजबूत बनाने की जिम्मेदारी की बात कहते हुए एक और जिम्मेदारी लेने में असमर्थता जताई है।

वहीं वेणुगोपाल ने पार्टी को मजबूत बनाने की जिम्मेदारी की बात कहते हुए एक और जिम्मेदारी लेने में असमर्थता जताई और पार्टी अध्यक्ष बताते चले वेणुगोपाल कर्नाटक के प्रभारी भी हैं, जहां पार्टी ने लोकसभा चुनाव में 28 सीटों में से मात्र एक सीट पर जीत हासिल की। पार्टी के वरिष्ठ सदस्य अहमद पटेल और गुलाम नबी आजाद, जो गांधी परिवार से हटकर पार्टी के अध्यक्ष के लिए नए चेहरे की तलाश कर रहे हैं, उन्होंने एंटनी और वेणुगोपाल को यह प्रस्ताव दिया था।

लोक सभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद 25 मई को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के दौरान राहुल गांधी द्वारा अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश किए जाने के बाद से ही इस पद के लिए नए चेहरे की तलाश की जा रही है। हालांकि पार्टी के शीर्ष निर्णायक समिति ने सर्वसम्मति से इस इस्तीफे को अस्वीकार करने के साथ ही, उन्हें पार्टी की संरचना को मजबूत बनाने के लिए पूरी शक्ति प्रदान कर दी। पार्टी सूत्र के अनुसार, अब पार्टी उत्तर भारत से इस पद के लिए किसी नए चेहरे की तलाश में है।

Back to top button