गैजेट ज्ञान

सिर्फ 97 रुपये सालाना है ट्विटर के CEO की पगार, फिर कैसे जीते हैं लाइफ शानदार

ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी अपने बेहद ही कम वेतन के लिए चर्चा में आ गए हैं. इतनी बड़ी कंपनी के सीईओ का सालाना वेतन चौंकाने वाला है. जैक डोर्सी 2015 में ट्विटर के सीईओ बने थे. तीन सालों तक उन्होंने कोई वेतन नहीं लिया. 2018 में डोर्सी ने सांकेतिक वेतन लिया है. ऐसे में वह चर्चा में हैं.

कितना वेतन मिलता है

2015 में ट्विटर के सीईओ बनने के बाद जैक ने कहा था कि वो कोई सैलरी या भत्ता नहीं लेंगे. तीन साल तक जैक ने कोई सैलरी नहीं ली. इसके बाद 2018 में उन्होंने 1.40 डॉलर(97 रुपये) की सांकेतिक सैलरी के अलावा कोई और भत्ता लेने से मना कर दिया. ट्विटर ने ये जानकारी सोमवार को रेगुलेटरी फाइलिंग के दौरान दी.

1.40 डॉलर ही क्यों

डोर्सी ट्विटर के को-फाउंडर हैं और उन्होंने सैलरी नहीं लेने का फैसला किया. डोर्सी की सैलरी ट्विटर की पिछली 140 वर्णो की लिमिट का संकेत है. 2017 तक ट्विटर पर वर्णो की लिमिट 140 की थी. इसके बाद इस लिमिट को बढाकर 280 कर दिया गया था.

हालांकि, डॉर्सी ने ऐसा पहले भी किया है. वह स्क्वायर (मोबाइल पेमेंट कंपनी) के सीईओ भी हैं, जिसने उन्हें 2017 में  मात्र 2.75 डॉलर सैलरी का भुगतान किया था. स्क्वायर स्वाइप लेनदेन के लिए 2.75 प्रतिशत चार्ज करता है.

कहां से कमाते हैं डोर्सी

डोर्सी की कमाई ट्विटर के जरिए ही होती है. उनके पास ट्विटर के 18 मिलियन शेयर हैं. ट्विटर के 2.3 प्रतिशत स्टॉक पर भी डोर्सी का मालिकाना हक़ है. साथ ही उनके पास स्कवायर के भी शेयर हैं. डोर्सी की नेटवर्थ 5.5 अरब डॉलर (38,318 करोड़ रुपए) है.

Back to top button