गुरुद्वारे के लंगर का चूल्हा जलता रहा बिना सिलेंडर, चमत्कार या कुछ और ?

0
12

सोशल मीडिया के जमाने में हमें कई तरह के विडियो देखने को मिलते हैं. इनमे से कुछ विडियो तो इतने रहस्यमयी या अजीब होते हैं कि हम भी अपना सिर खुजाने लगते हैं कि आखिर ये हुआ कैसे होगा? कई लोग तो इन विडियो में होने वाली चीजों को चमत्कार समझ आँख बंद कर भरोसा भी कर लेते हैं. ऐसा ही एक विडियो इन दिनों इन्टरनेट पर खूब वायरल हो रहा हैं. इस विडियो में एक शख्स लंगर में बनने वाला खाना दिखा रहा हैं. इस विडियो की ख़ास बात ये हैं कि इसमें जिस चूल्हे पर लंगर की दाल उबल रही हैं उसमे गैस सिलेंडर नहीं लगा हुआ हैं. यानी की ये चुल्हा बिना किसी सिलेंडर के जल रहा हैं. ऐसे में कई लोग इसे चमत्कार बता रहे हैं. तो क्या सच में ये कोई चमत्कार हैं? या फिर इसके पीछे कुछ दूसरा ही सच छिपा हैं? आइए पता लगाए…

जानकारी के मुताबिक ये वायरल विडियो चंडीगढ़ के सेक्‍टर 40 में स्थित गुरुद्वारे का बताया जा रहा हैं. इस विडियो में एक शख्स जिसका चेहरा नहीं दिखाई दे रहा हैं, ये दावा कर रहा हैं कि लंगर में श्रद्धालुओं के लिए बनाया जाने वाला प्रसाद चूल्हे पर बिना किसी सिलेंडर के बन रहा हैं और ये किसी चमत्कार से कम नहीं हैं. ये शख्स चूल्हे के आसपास चारो तरफ कैमरा घुमाता हैं और ये जताने की कोशिश करता हैं कि चूल्हे के आसपास ऐसी कोई भी चीज नहीं हैं जिसकी वजह से आग जल रही हो. हम विडियो में चूल्हे का पाइप जमीन पर पड़ा भी देख सकते हैं. विडियो में कहीं से कहीं तक कोई सिलेंडर भी नहीं दिखाई देता हैं.

इस विडियो के अपलोड होने के बाद ही ये सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो गया. कई लोगो ने तो इसे चमत्कार समझ इस पर आँख बंद कर भरोसा भी कर लिया. हालाँकि जब इस वायरल विडियो का सच सामने आया तो ये चमत्कार वाली बात झूठी निकली. दरअसल इस विडियो के राज को खुद सेक्‍टर 40 के गुरुद्वारे के प्रबंधक ने खोला हैं. गुरुद्वारे के प्रबंधक कृपाल सिंह के अनुसार इस विडियो में कही गई बात में कोई सच्चाई नहीं हैं. इस विडियो के जरिए किसी ने शरारत करने की कोशिश की हैं.

इस वजह से जल रहा था बिना सिलेंडर का चुल्हा

कृपाल ने बिना सिलेंडर के चुल्हा जलने की वजह बताते हुए कहा कि हमारे गुरुद्वारे में श्रद्धालुओं के लिए प्रसादा तैयार हो रहा था. इस दौरान गैस सिलेंडर ख़त्म हो गया जिसकी वजह से उसे अलग कर दिया गया. इसी दौरान एक शख्स ने इस विडियो को बनाया हैं. कृपाल बताते हैं कि जब सिलेंडर को चूल्हे से अलग किया जाता हैं तो भी उसके पाइप में कुछ गैस बाकी रह जाती हैं. इसी वजह से चूल्हा कुछ देर तक बिना सिलेंडर के जलता रहता हैं. हालाँकि विडियो बनाने वाले शख्स ने इसे तोड़ मोड़ के ये जताने की कोशिश की हैं कि ये प्रसाद पूरी तरह बिना सिलेंडर के ही बन रहा हैं. जो कि झूठ हैं.