उत्तर प्रदेश

यूपी के यादव सिपाही की अरदास- ‘हे! DGP भगवान.. त्राहिमाम-त्राहिमाम, हमारी पुकार सुन लो नाथ’

उत्तर प्रदेश पुलिस में 1861 का अंग्रेजी कानून बदलवाने और बॉर्डर सिस्टम खत्म करवाने के लिए पुलिसकर्मी अक्सर अपनी आवाज बुलंद करते नजर आ चुके हैं। लेकिन उनकी इन मांगों पर अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया। ऐसे में अब एक पुलिसकर्मी ने इन्ही मुद्दों पर अपनी बात रखते हुए एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वह डीजीपी ओपी सिंह को उत्तर प्रदेश पुलिस का भगवान मानकर पूजा-अर्चना करता देखा जा रहा है।
 

सिपाही ने लगाए आईपीएस अधिकारियों के जयकारे

प्रदेश पुलिस में तैनात सिपाही सरोज यादव सबसे पहले तो वायरल वीडियो में आईपीएस अधिकारियों के लिए जयकारा लगाने की बात कहता है। इसके बाद डीजीपी ओपी सिंह को भगवान बताते हुए उनके जयकारे लगाता है। इसके बाद सिपाही कहता है कि भक्तजनों हमने अपने आईपीएस भगवान का जयकारा तो लगा लिए हैं। लेकिन अब इस आशा से कुछ मन्नत करना चाहेंगे कि हे! प्रभु हे! डीजीपी भगवान हे! हम सब अराजपत्रित वर्दी धारियों के खुदा, हम सब पुलिसकर्मियों के स्वामी…आपके चरणों में सादर प्रणाम।
 

हे! त्रिलोकी नाथ हम सब भक्तों पर कृपा करो

वायरल वीडियो में सिपाही कहता है कि हे! प्रभु…हम सभी पुलिसकर्मियों की रक्षा करो, हे! त्रिलोकी नाथ हम सब भक्तों पर कृपा करो। हे! त्रिलोकी नाथ हम सब अराजपत्रित कर्मचारियों पर हो रहे अत्याचार से हमारी रक्षा करो। इसके बाद सिपाही कहता है कि आज वर्तमान समय में तीनों लोकों में आपके सिवा हमारी रक्षा करने वाला कोई नहीं है, इस संकट की घड़ी में आपके अतिरिक्त हमारी पुकार और कोई नहीं सुन सकता।
 

हे! स्वामी हमारी पुकार सुन लो नाथ

वीडियो में सिपाही सरोज यादव कहता है कि त्राहिमाम-त्राहिमाम डीजीपी भगवान…हे! स्वामी हमारी पुकार सुन लो नाथ…ये मैं अकेला नहीं बोल रहा हूं भगवन, मेरे जैसे लाखों और उनके न जाने कई लाख परिवार के भक्त लोग आपसे यही आशा लगाए बैठे हैं कि हमारे प्रभु हम पर दया करेंगे। इसके बाद सिपाही कहता है कि मैं जानता हूं भगवन…आपकी प्रभुत्ता को जानता हूं नाथ…अगर आप अपनी भृकुटि इतनी सी टेढ़ी कर दें तो करोड़ों परिवार यूं ही खुश हो जाएंगे भगवन। सिपाही कहता है कि हे! प्रभु अपने भक्त की परीक्षा न लो नाथ, हमें इतना कष्ट ना दो नाथ…आपके भक्त प्राण त्याग रहे हैं आप पत्थर न बनो प्रभु। भक्तो पर दया करो त्रिलोकी नाथ। सिपाही आगे कहता है कि हे प्रभु 1861 के अंग्रेजी कानून को बदलवा दीजिए नाथ…हमारा बॉर्डर सिस्टम खत्म करवा दीजिए प्रभु…हमारी ड्यूटी का टाइम तय करवा दीजिए।
Back to top button