ऐसे करे पार्टनर के साथ प्यार की शुरुआत, हर एक पल बनेगा मज़ेदार !

0
13

शारीरिक सम्बन्ध तो मनुष्य की प्रेम-अभिव्यक्ति है, जिसे उपर्युक्त समय और परिवेश में करते रहना चाहिए | प्रेम संबंधों के स्थायित्व की प्रतिभूति है सेक्स; यह सभी इन्द्रियों का एक सम्पूर्ण व्यायाम है | सेक्स में संतुष्टि एक बहुत ही आवश्यक पहलु है इसके लिए दीर्घ मिलन तो आवश्यक है ही साथ ही दो अवस्थाएं भी आवश्यक हैं, तो आइये जाने कौन सा समय होता है जब बनाये गए शारीरिक सम्बन्ध सबसे प्रभावी होते हैं | शारीरिक सम्बन्ध बनाने से प्यार गहरा होता जाता है. इसी से आपके रिश्ते मजबूत होते हैं और आप दोनों में प्यार बना रहता है. सेक्स सम्बन्ध हर किसी के लिए ख़ास होते है. ये सिर्फ शारीरिक क्रिया नहीं है ये दो आत्माओ का मेल है, जो सुकून के साथ ही आत्मीय सुख भी देती है.

कपबर्ड के सहारे

एक दूसरे की तरफ फेस करते हुए कपबर्ड के सहारे खड़े हो जाएं और फिर जो करना चाहते हैं करें। ये एक नया तरीका भी हो सकता है।

कुर्सी पर

मेल पार्टनर को कुर्सी पर बिठा दें और आप अपने दोनों पैर फैलाकर पार्टनर की गोद में बैठ जाएं। इसके बाद आप सेक्स का मज़ा अच्छे से ले सकते हैं।

किचन टॉप

अगर किचन के स्लैब या फिर टेबल टॉप की हाइट आप दोनों की हाइट के हिसाब से सही है तो पेनिट्रेटिव सेक्स के लिए इससे बेहतर जगह और कोई हो ही नहीं सकती।

शावर में

सर्दी का मौसम है और उसमें गर्म पानी से शावर लेने के दौरान सेक्स का quickie सेशन हो जाए तो इससे बेहतर और क्या होगा। लेकिन वहीं अगर गर्मी का मौसम है तो आपको शावर सेक्स से बेस्ट कुछ भी नहीं मिलेगा।