धर्म

मंदिर में पैर रखने से पहले जिसने नहीं किए ये 5 काम, उसकी सारी पूजा हो जाएगी बेकार

भारत में लोगो के लिए अपने भगवान् बहुत अधिक मायने रखते हैं. ये हमारी संस्कृति का एक अभिन्न अंग हैं. शायद यही वजह हैं कि भारत के हर शहर, गाँव, कस्बे और गली मोहल्ले में आपको कोई ना कोई मंदिर बना हुआ अवश्य मिल जाएगा. दिलचस्प बात ये हैं कि इन हर मंदिर में भक्तों की भीड़ लगी ही रहती हैं. आमतौर पर भक्त इन मंदिरों में अपने मन की मुरादें लेकर प्रवेश करते हैं. भगवान को प्रसन्न कर बदले में वे अपने जीवन में सुख, शान्ति और सम्रद्धि की कामना करते हैं.

आप में से कई लोग भी आए दिन मंदिर जरूर जाते होंगे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि मंदिर के अंदर प्रवेश करने के पहले आपको कुछ ख़ास बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए. मंदिर एक पवित्र जगह मानी जाती हैं. ये हमारे देवी देवताओं का निवास स्थल होता हैं. इसलिए इसमें प्रवेश करते समय कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना चाहिए. यदि आप इन बातों का ध्यान नहीं रखते हैं तो आपके द्वारा की गई पूजा का फल आपको नहीं मिलेगा. तो चलिए फिर बिना किसी देरी के जान लेते हैं कि मंदिर में घुसने से पहले आपको कौन कौन से काम कर लेने चाहिए.

1. मंदिर की पहली सीढ़ी पर माथा टेकना

जब भी आप मंदिर में प्रवेश करे तो उस मंदिर की पहली सीढ़ी पर कदम रखने से पहले उसे हाथो से छू माथे पर जरूर लगाए. ऐसा करने से आप भगवान से उनके दरबार में आने की अनुमति लेते हैं. साथ ही भगवान से कहते हैं कि इस मंदिर में यदि उनसे अंजाने में कोई भूलचुक हो जाए तो वे हमें क्षमा कर दे. साथ ही आपका ऐसा करना एक तरह से भगवान को मान सम्मान देना होता हैं.

2. चप्पल एवं जूते के साथ मौजे भी बाहर उतारना

आमतौर पर जब भी कोई मंदिर में प्रवेश करता हैं तो अपने चप्पल और जूते तो उतार देता हैं लेकिन मौजे नहीं उतारता हैं. लेकिन आपको इन मौजो को भी उतार देना चाहिए. जूते के अंदर रहने के कारण ये मौजे काफी गंदगी से भरे होते हैं. ऐसे में जब आप इन मौजो के साथ ही मंदिर में घुसते हैं तो साथ में गंदगी और इससे जुड़ी नेगेटिव एनर्जी भी अपने साथ ले जाते हैं. इस स्थिति में आपको पूजा का फल नहीं मिलेगा.

3. चमड़े से बनी चीजें बाहर रखना

मंदिर के अंदर चमड़े से बनी चीजें जैसे पर्स, बेल्ट, लेदर जैकेट इत्यादि चीजें नहीं ले जाना चाहिए. ये चीजें जानवरों की खाल से बनी होती हैं जिसे देख भगवान अप्रसन्न हो सकते हैं.

4. मन को साफ़ करना

जब भी मंदिर के अंदर जाए तो उसके पहले अपने मन को पूरी तरह साफ कर ले. आपके अंदर किसी भी प्रकार का गुस्सा या कोई हीन भावना नहीं होना चाहिए. आप मंदिर एक पॉजिटिव थिंकिंग के साथ जाए और मन में कोई भी गलत विचार ना लाए.

5. हाथ पैर धोना

मंदिर में जाने के पहले या भगवान के नजदीक जाकर उन्हें छूने से पहले अपने हाथ और पैर पानी से अवश्य धो ले. इससे आपके हाथ और पैर की गन्दगी निकल जाएगी और आप स्वच्छ होकर ही भगवान के नजदीक जाओगे.

 

Back to top button