रेप के आरोपी ने लॉकअप में किया ऐसा कांड, पुलिसवालों के भी हाथ-पांव फूल गए

0
32

फतेहपुर/चौडगरा। अपहरण व दुष्कर्म के मामले में मलवां थाने के लाकअप में बंद लगभग 21 वर्षीय आरोपी ने शौचालय में जाकर अपनी ही बनियान से फांसी लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। जानकारी होने पर मलवां पुलिस के हाथ-पांव फूल गये वहीं उसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां उसकी हालत गम्भीर देख कानपुर के लिए रिफर कर दिया। जिसे आईसीयू में रखा गया है।
बताते चलें कि मलवां थाना क्षेत्र के कुंवरपुर गांव निवासी पुत्तन का पुत्र नीरज के खिलाफ गांव के ही एक युवक ने उसकी पुत्री का अपहरण करके दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए एक पखवारे पूर्व नामजद तहरीर दी थी। जिस पर पुलिस ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए आरोपी की खोजबीन शुरू कर दी थी। दो दिन पूर्व आरोपी के मामा व चाचा को पुलिस थाने ले आयी थी। उधर मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने सोमवार को उसे गिरफ्तार कर लिया था और थाने ले आयी थी। बताते हैं कि रात लगभग एक बजे ड्यूटी पर एसआई मुकेश सिंह व दीवान राज बहादुर सिंह तैनात थे। इसी बीच आरोपी ने शौचालय जाने की बात कही।

गार्ड उसे शौचालय लेकर गया। तभी उसने अपनी बनियान से फंदा बना फांसी पर झूल गया। जानकारी होने पर थाना परिसर में हड़कम्प मच गया और तत्काल उसे फांसी के फंदे से उतारकर आनन-फानन उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां चिकित्सकीय उपचार के बाद हालत बिगड़ने पर उसे कानपुर हैलट के लिए रिफर कर दिया गया। घटना के बाबत जानकारी जब पुलिस उपाधीक्षक सदर कपिल देव मिश्र से ली गयी तो उन्होने बताया कि आरोपी के खिलाफ अपहरण व दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिस पर उसकी गिरफ्तारी की गयी थी। वहीं लोगों में चर्चा है कि आरोपी को लाकअप में थर्ड डिग्री दी गयी थी। जिससे वह फांसी पर झूलने के लिए मजबूर हो गया।