ऐसे चल रहा बाहुबली अतीक का नेटवर्किंग कारोबार, पकड़े गए 12 शातिरो ने खोले राज़

0
27
Related image
प्रयागराज। नेटवर्किंग कारोबार के जरिए करोड़ों की ठगी करने के मामले में पूर्व सांसद अतीक अहमद के दो करीबियों समेत 12 लोगों नेपाल की जांच एजेंसी व पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उनके पास से लैपटाप, मोबाइल, आइपैड समेत कई इलेक्ट्रानिक उपकरण बरामद किए गए हैं।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक नेपाल पुलिस को पता चला था कि कुछ भारतीय नागरिक नेपाली लोगों के साथ मिलकर अवैध रूप से व्यवसाय कर रहे हैं।  जांच शुरू हुई तो यह बात सामने आई कि नेटवर्किंग कारोबार की आड़ में लोगों से बड़ी-बड़ी रकम निवेश कराई जा रही है। विदेशी मुद्रा विनिमय कंपनी के जरिए ठगी की जा रही है। नेपाल की पुलिस, केंद्रीय अनुसंधान ब्यूरो और नेशनल बैंक के अफसरों ने होटल समेत जालसाजों के कई ठिकानों पर दबिश दी। प्रयागराज के करेली थाना क्षेत्र में रहने वाले अतीक के दो करीबी युवकों समेत लखनऊ, राजस्थान, छत्तीसगढ़, दिल्ली, बेंगलुरू निवासी कुल 12 लोगों को पकड़ा गया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि कंपनी का मुख्यालय दुबई में हैं। लखनऊ, सिंगापुर, मॉरीशस में शाखा कार्यालय हैं।
यहां नेटवर्किंग के जरिए इमेल आइडी के आधार पर कंपनी में खाता खोला जाता था। इसके बाद रकम निवेश कराई जाती थी। कंपनी का सदस्य बनाने पर 15 प्रतिशत तक कमीशन देने का भी खेल होता था। सभी युवकों ने धोखाधड़ी करने के लिए फर्जी कंपनी और उनके दफ्तर खोले थे। स्थानीय पुलिस का कहना है कि अतीक का करीबी युवक करेली में साइन सिटी समेत कई प्रोजेक्ट के जरिए तमाम लोगों से धोखाधड़ी कर चुका है। वह नेपाल में पकड़ा गया है, लेकिन इसकी जानकारी नहीं है। स्पेशल टॉस्क फोर्स के एडिशनल एसपी नीरज पांडेय का कहना है कि प्रयागराज समेत कई जिलों में धोखाधड़ी करने वालों के नेपाल में पकड़ जाने की जानकारी मिली है, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है।