बेटी को मौत दे दिया सगा बाप, वजह- झूठी शान रखनी थी बरकरार

0
41

Image result for बाप ने बेटी को उतारा मौत के घाट

उत्तर-पश्चिम दिल्ली के आदर्श नगर इलाके में झूठी शान के लिए जन्म देने वाले पिता ने ही 19 साल की बेटी की गला घोंटकर हत्या कर दी। वारदात में आरोपित के एक दोस्त ने भी उसका साथ दिया। शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपित उसे शमशान घाट ले गए। रिश्तेदारों को बीमारी से मौत की बात बताई गई, लेकिन पुलिस को किसी ने युवती के आत्महत्या करने की सूचना दे दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया तो रिपोर्ट से हत्या का खुलासा हुआ। 24 जुलाई को हुई वारदात के बाद 7 सितंबर को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई। जिसके बाद पुलिस ने रविवार देर रात आरोपित पिता व उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया।

दोनों ने बताया कि गैर बिरादरी के लड़के से प्यार करने पर उन्होंने बेटी की हत्या कर दी। पुलिस ने हत्या और अन्य धाराओं में केस दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर रही है।पुलिस के अनुसार आरोपित पिता की पहचान लखन (50) और उसके दोस्त राजू (30) के रूप में हुई है। लखन परिवार के साथ बी-ब्लॉक, लालबाग, आजादपुर में रहता है। इसके परिवार में पत्नी, एक बेेटा और दो बेटियां थीं। मृतका शीतल (19) परिवार में सबसे छोटी बेटी थी। उसने नौंवी कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी। वह घर पर ही रहती थी। इसका पिता लखन व पिता का दोस्त राजू का केबल का काम है। 23 जुलाई की रात को अचानक शीतल की मौत हो गई। रिश्तेदारों को बताया गया कि बीमारी से शीतल की मौत हुई। वहीं अगले दिन 24 जुलाई को लखन और राजू व अन्य लोग शीतल के शव को लेकर केवल पार्क स्थित शमशान घाट पहुंचे।

अभी वह शव का अंमित संस्कार कर पाते कि किसी ने पुलिस को मामले की सूचना दी। कॉलर ने युवती के आत्महत्या करने की आशंका जताई। पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस को भी कुछ शक हुआ।शव कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम कराया गया। शुरूआती पीएम रिपोर्ट में शीतल की मौत को स्वाभाविक नही बताया गया।

पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार करने लगी। इधर सात सितंबर को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई तो डॉक्टरों ने बताया कि शीतल को गला घोंटकर मौत के घाट उतारा गया। पुलिस ने रविवार को लखन व उसके दोस्त राजू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपियों ने शीतल की हत्या की बात कबूल कर ली। उन्होंने बताया कि झूठी शान के लिए आरोपियों ने 23 जुलाई की रात को शीतल की गला घोंटकर हत्या कर दी। बाद में उसके शव को जलाने का भी प्रयास किया गया, लेकिन पुलिस ने उससे पहले उनका राज खोल दिया।

दूसरी बिरादरी के युवक से करती थी प्यार

इसलिए मारापुलिस की पूछताछ में आरोपित लखन ने बताया कि पढ़ाई छोडऩे के बाद शीतल अपने घर में रह रही थी। करीब डेढ़ साल पूर्व शीतल की दोस्ती इलाके में ही रहने वाले एक युवक से हुई। युवक चालक की नौकरी करता था। उसकी आर्थिक स्थिति भी अच्छी नही थी। युवती ने आरोपित से ही शादी करने की बात की। परिवार ने उसे खूब समझाया। यहां तक उसकी मंगनी करने के बाद दीपावली पर उसकी शादी की तैयारी भी थी। शीतल इसके लिए तैयार नही थी। काफी समझाने के बाद जब बात नही बनी तो लखन ने बेटी की हत्या की योजना बनाई। उसने इसके लिए अपने दोस्त राजू की मदद ली।

23 की रात को सोते समय बेटी की हत्या कर दी गई।आरोपितों ने शीतल का जब तक गला घोंटा तब तक उसकी मौत नही हो गई। बाद में बीमारी से मौत की बात को रिश्तेदारों में फैलाकर अगले दिन शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया। किसी को पता भी नही चलता अगर पुलिस को सूचना न दी जाती। पुलिस की सूझबूझ से ऑनर किलिंग की वारदात से पर्दा उठ गया। डीसीपी विजयंता आर्य ने बताया कि दोनों आरोपितों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया, बाकी अन्य लोगों की भूमिका की जांच की जा रही है, जांच के बाद तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।