मासूम भाई की शरारतों से परेशान थी बड़ी बहनें, बनाया प्लान और ले ली जान

0
10

हरिद्वार में नाबालिग बच्चे को उसकी दो बहनों ने गंगनहर में फेंककर मौत की नींद सुला दिया. दोनों बहनों का कहना है कि भाई बहुत परेशान करता था. जिसके कारण वह स्कूल तक नहीं जा पा रही थी. इसलिए उन्होंने भाई को लालपुल के पास गंगनहर में फेंक दिया. इस सनसनी खेज प्रकरण के खुलासे ने सभी को हैरान कर दिया है.

ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र निवासी सोनू कुमार का डेढ़ साल का पुत्र सूरज कुमार संदिग्ध परिस्थितियों में 28 नवम्बर को लापता हो गया था. मासूम सूरज के घर से अचानक गायब होने से हड़कंप मच गया. बच्चे के परिजनों ने बहुत तलाश की लेकिन बच्चे का कोई पता नहीं चल पाया तो उन्होंने पुलिस को बच्चे के अपहरण होने की सूचना दी.

पुलिस की कई टीमें बच्चे को बरामद करने में लग गईं. लेकिन पुलिस को अहम जानकारी मिली कि बच्चे का अपहरण नहीं हुआ. पुलिस को पता चला कि बच्चे की बहनों ने ही उसकी हत्या कर दी है.

पुलिस ने बहनों से पूछताछ की तो बच्चे के गायब होने की हकीकत सामने आ गई. उसकी दोनों बहनों का कहना था कि भाई उन्हें बहुत परेशान करता था. इसलिए उन्होंने उसे गंगनगहर में फेंक दिया.